DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कई देशों की जेलों में बंद हैं 6483 भारतीय

कई देशों की जेलों में बंद हैं 6483 भारतीय

दुनिया के 68 देशों की जेलों में 6,483 भारतीय नागरिक बंद है, जिनमें से 322 की सजा पूरी कर लेने के बावजूद रिहाई नहीं हो सकी है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया कि उपलब्ध अपुष्ट रिकॉर्ड के अनुसार, 74 गुमशुदा युद्धबंदी पाकिस्तान की जेलों में बंद हैं। वहीं सबसे अधिक 1,469 भारतीय नागरिक सऊदी अरब की जेलों में बंद हैं। संयुक्त अरब अमीरात में 822, नेपाल में 612, ब्रिटेन में 437, पाकिस्तान में 347 और मलेशिया की जेलों में 334 भारतीय नागरिक बंद हैं। सजा पूरी हो जाने के बावजूद जेलों में बंद 322 भारतीयों नागरिकों में सबसे अधिक 276 पाकिस्तान में हैं।


पाकिस्तानी नागरिकों ने ली भारतीय नागरिकता
सरकार ने बुधवार को बताया कि वर्ष 2003 से इस साल 20 नवंबर तक करीब पांच हजार पाकिस्तानी नागरिकों और 1,481 अफगानिस्तानी नागरिकों को भारत की नागरिकता प्रदान की गई है। गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने बताया कि पाकिस्तान और अफगानिस्तान से आने वाले लोगों की कठिनाइयों पर विचार करने के बाद उन्हें भारत के नागरिक के तौर पर पंजीकृत कराने के लिए सितंबर 2014 में एक विशेष कार्यबल गठित किया गया। उन्होंने बताया कि अब तक 5,223 पाकिस्तानी नागरिकों को भारत की नागरिकता प्रदान की गई है।

संघर्षविराम उल्लंघन से हजारों विस्थापित
सरकार ने बुधवार को बताया कि इस साल अब तक सीमा पार से संघर्षविराम के उल्लंघन के कारण जम्मू कश्मीर के सीमावर्ती गांवों से 73,000 से अधिक लोग अस्थाई तौर पर विस्थापित हो गए। गृह राज्य मंत्री हरिभाई परथीभाई चौधरी ने राज्यसभा को बताया कि संघर्षविराम उल्लंघन की वजह से इस साल जम्मू, कठुआ और सांबा जिलों के सीमावर्ती गांवों से 73,368 लोग अस्थाई तौर पर विस्थापित हुए। इन विस्थापितों के पुनर्वास की कोई योजना शुरू नहीं की गई है। चौधरी ने बताया कि प्रभावित लोगों को सरकारी भवनों, स्कूलों और अन्य सार्वजनिक परिसरों में सुरक्षित स्थानों पर भेजा जाता है। वहां उन्हें सीमा पर शांति बहाल होने तक मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती हैं।

भारत-पाक सीमा पर घुसपैठ के 345 मामले
सरकार ने बताया कि पिछले साल भारत-बांग्लादेश सीमा पर घुसपैठ के सर्वाधिक 1,161 मामले हुए। वहींभारत-पाकिस्तान सीमा पर घुसपैठ के मामलों की संख्या 345 रही। गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने बुधवार को राज्यसभा में बताया कि वर्ष 2013 में भारत-बांग्लादेश सीमा पर घुसपैठ के 1,161 मामले हुए। इन मामलों के सिलसिले में 3,063 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया, जबकि 17 घुसपैठिए मारे गए। भारत-पाकिस्तान सीमा पर पिछले साल हुए घुसपैठ के 345 मामलों में 145 व्यक्ितयों को गिरफ्तार किया गया और 51 घुसपैठिए मारे गए। वहीं भारत-चीन सीमा पर इस अवधि में घुसपैठ के दो और भारत-म्यामांर सीमा पर 180 मामले हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कई देशों की जेलों में बंद हैं 6483 भारतीय