DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्रिसमस के लिए गिरजाघरों की सजावट शुरू

लौहनगरी के मसीही समुदाय के लोग क्रिसमस के बहाने प्रभु यीशु की शिक्षा को अंगीकार करने को बेकरार हैं। गिरजाघरों की सफाई, रंग-रोगन और मरम्मत का काम शुरू हो चुका है। ईसाई धर्मावलंबी इस बार क्रिसमस का त्योहार सादगी से मनाने की तैयारी में लगे हैं। मन को पवित्र करने में पहली तारीख से लग गए हैं। संत मार्क चर्च मानगो के पल्ली पुरोहित रेव्ह. आदित्य प्रताप भुइयां ने कहा है कि क्रिसमस के उपलक्ष्य में यीशु की शिक्षा को जीवन में अंगीकार करने का सुनहरा मौका है।

इससे खुद के साथ सारे जग का भला होगा। यीशु मसीह के वचन ‘दुश्मनों को माफ कर दो’, ‘अपने परमेश्वर को संपूर्ण शक्ति से प्रेम करो’ और ‘पड़ोसी को अपने समान प्रेम करो’ के अंगीकार से समाज की कई विसंगतिया दूर हो जाएंगी।

कैरोल सिंगिंग शुरू
एंग्लो इंडियन एसोसिएशन और विभिन्न गिरजाघरों की क्वॉयर और कैरोल सिंगिंग टीम शहर के बिरसानगर, टेल्को, बारीडीह और सोनारी में सक्रिय हो गई है। टीम के सदस्य मसीहियों के घर-घर जाकर यीशु मसीह के आगमन का संदेश देने लगे हैं। एंग्लो इंडियन एसोसिएशन का संगीतमय क्रिसमस मिलन समारोह 12 दिसंबर को रवींद्र भवन में होगा। बुजुर्गो का 14 और बच्चों का 21 को मिलन समारोह है।

चुनावी माहौल रहेगा
प्रदेश में विधानसभा के प्रथम चरण के चुनाव की अधिसूचना के बाद छठ, मुहर्रम और गुरु नानक देव महाराज का प्रकाशोत्सव मना। अब मतदान के बाद मतगणना के दौरान मसीहियों का बड़ा दिन ‘क्रिसमस’ है। 23 दिसंबर को मतगणना को लेकर चहल-पहल रहेगी। उधर, क्रिसमस की पूर्व संध्या पर गिरजाघरों में आध्यात्मिक गतिविधियां चरम पर रहेंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:क्रिसमस के लिए गिरजाघरों की सजावट शुरू