DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विकलांगजन विकास के एजेंडे में है: अम्बिका चौधरी

विकलांगजन विकास के एजेंडे में हैं। उनको मुख्य धारा में लाने के लिए अलग से नीति बनाई गई है। उन्होंने आरोप लगाया कि पिछली सरकार ने ऐसी कोई नीति नहीं बनाई, जिसकी वजह से विकलांगजनों के लिए योजनाएं भी नहीं बन पा रही थीं। विकलांग कल्याण मंत्री अम्बिका चौधरी ने ये बातें विश्व विकलांग दिवस के अवसर पर इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित सम्मान व पुरस्कार वितरण समारोह में बुधवार को कहीं।


अम्बिका चौधरी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने शकुन्तला मिश्र विश्वविद्यालय में पढ़ रहे अशक्त छात्रों की पूरी फीस माफ कर दी। यही नहीं, अब उनकी हॉस्टल और मेस की फीस भी माफ कर दी गई है। मुख्य अतिथि विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय ने कहा कि विकलांगता कठिन समस्या पैदा करती है लेकिन जिन्होंने अपने अदम्य साहस के बलबूते इस पर विजय हासिल की, वे हम सब के लिए प्रेरणा का सबक हैं। कार्यक्रम को विकलांग कल्याण सचिव अनिल कुमार सागर ने भी सम्बोधित किया।


खुद बोल या सुन नहीं सकते लेकिन नृत्य कर दिया संदेश
जो गीतों को सुन नहीं सकते, बोल नहीं सकते उन बच्चाों ने कार्यक्रम के दौरान आकर्षक नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों को दांतो तले उंगली दबाने पर मजबूर कर दिया। जिनको हमारे समाज ने अशक्त की संज्ञा दी है उन बच्चाों ने बता दिया वे अशक्त नहीं सशक्त हैं। सम्मान समारोह में चेतना संस्थान अलीगंज, वाणी विकास केन्द्र अलीगंज, बचपन डे केयर सेंटर लखनऊ, एनसी चतुर्वेदी स्कूल फॉर दि डेफ ऐशबाग, स्पार्क इंडिया, संकेत लखनऊ, आशा स्कूल लखनऊ, स्पर्श और बालागंज सेंट फ्रांसिस स्कूल के छात्रों ने एक से बढ़ कर एक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। चेतना संस्थान के छात्रों ने ‘ऊं गं गणपतये नमो नम:’ गीत पर पर नृत्य प्रस्तुत किया तो वाणी विकास केन्द्र अलीगंज के छात्रों ने ‘देश मेरे देश मेरे मेरी जान है तू’ पर नृत्य कर मन मोह लिया। वहीं, सेंट फ्रांसिस के छात्रों ने जूडो और ताइक्वांडो का प्रदर्शन किया।

इस बिटिया को सलाम
सुबह करीब 11:35 पर कार्यक्रम शुरू होने से लेकर अंत तक सेंट फ्रांसिस की शिक्षिका चंदा शुक्ला लगातार उन बच्चाों को हाथ के इशारों से एक एक सम्बोधन और प्रस्तुति की जानकारी दे रही थीं जो बोल या सुन नहीं सकते।

इनको मिला सम्मान-
दक्ष विकलांग कर्मचारी राज्य स्तरीय पुरस्कार
डॉ. प्रमोद कुमार सिंह (दृष्टिबाधित), एसोसिएट प्रोफेसर हिन्दी विभाग, डॉ. शकुन्तला मिश्र पुनर्वास विश्वविद्यालय
अरुण कुमार अग्रवाल (श्रवणबाधित) रेलकर्मी
आदर्श कुमार (अस्थिबाधित), चेतना संस्थान में शिक्षक
अनिरुद्ध प्रताप पासवान, सचिवालय कर्मचारी
रुचि सिंह, मनोरंजन कर विभाग कर्मचारी
अरविंद कुमार गुप्ता, पीएनबी में कैशियर

हिन्दुस्तान के पत्रकार को मिला सम्मान
‘हिन्दुस्तान’ हिन्दुस्तान बागपत के पत्रकार विपुल जैन को विकलांगजन के उत्कृष्ट रोल मॉडल का पुरस्कार दिया गया। विपुल का बायां पैर पोलियोग्रस्त है फिर भी उन्होंने अशक्तता पर अपने हौसलों से विजय हासिल की। इसके अलावा उन्होंने चावल के दानों, खरबूजे के बीज, मेथी और सरसों पर चित्रकारी कर कई बड़े पुरस्कार हासिल किए हैं।

दृष्टिबाधित बच्चों को दिखा रहीं राह
मेरठ की शबाना अशक्त हैं लेकिन उनके इरादे मजबूत हैं। आज उनसे सामान्यजन प्रेरणा ले रहे हैं। मौजूदा समय वह दृष्टिबाधित बच्चाों को शिक्षा दे रही हैं।

इनको भी मिले पुरस्कार-
सृजनात्मक कार्य के लिए- लखनऊ के आशीष कुमार शुक्ला, मोनू चौरसिया और बागपत के विनोद कुमार त्यागी विकलांगजन के उत्कृष्ट रोल मॉडल- बिजनौर के विक्कर सिंह, लखनऊ की सायरा, बिजनौर के सुमित कुमार, लखनऊ के साहिल

विकलांगजन के हितार्थ उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्ति- कानपुर के प्रशांत मिश्र, बरेली के जिलाधिकारी संजय कुमार, बहराइच की जिलाधिकारी रह चुकीं किंजल सिंह, रामपुर के सिफात अली खां, शाहजहांपुर के अशोक कुमार अग्रवाल, लखनऊ की रश्मि अग्निहोत्री, कौशाम्बी के जिलाधिकारी राजमणि यादव, लखनऊ की दीपशिखा पाण्डेय, अनामिका श्रीवास्तव, इलाहाबाद के जितेन्द्र कुमार जैन और लखनऊ की मीना तिवारी

इन संस्थाओं को मिला सम्मान
दृष्टिबाधित पुनर्वास संस्थान, प्रभात ग्रामोद्योग सेवा संस्थान, अखिल भारतीय विकलांग कल्याण समिति, स्पास्टिक केन्द्र, सोसाइटी फॉर इंस्टीटय़ूट ऑफ साइकोलॉजिकल रिसर्च एंड हेल्थ, अद्वैत परिवार फाउंडेशन, आर्य सुगंध संस्थान

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विकलांगजन विकास के एजेंडे में है: अम्बिका चौधरी