DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंकों में हड़ताल से करोड़ों का कारोबार प्रभावित

वेतन पुनरीक्षण की मांग को लेकर बुधवार को उप्र में काम कर रहे 46 बैंकों के कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं। बैंकों में हड़ताल की वजह से दो हजार करोड़ रुपये का कारोबार प्रभावित होने का अनुमान है। हड़ताल में शामिल लोगों का कहना है कि सरकार की अनदेखी की वजह से कर्मचारी प्रदर्शन करने को मजबूर हैं।

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक्स के प्रदेश मीडिया प्रभारी अनिल तिवारी ने बताया कि पांच वर्ष में बैंकों का वेतन पुनरीक्षण होता है लेकिन सरकार की ओर से कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है, जिससे कर्मचारी निराश हैं और वे हड़ताल पर जाने के लिए मजबूर हैं।

उन्होंने बताया कि सरकारी बैंकों के साथ-साथ निजी बैंक भी इस हड़ताल में अपना सहयोग दे रहे हैं। बैंकों की इस हड़ताल से केवल एक दिन में दो हजार करोड़ रुपये का कारोबार प्रभावित होने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि वेतन पुनरीक्षण की मांग को लेकर बैंककर्मी पिछले कई वर्षों से संघर्ष करते आ रहे हैं। हर बार इन्हें आश्वासन की देकर चुप करा दिया जाता है। अपनी इस मांग को पूरा न होते देख अब बैंककर्मी एक बार फिर हड़ताल पर चले गए हैं।

हड़ताल में उप्र के 46 बैंकों की 1,800 शाखाओं पर ताले लटक रहे हैं। 75 हजार से अधिक कर्मचारी काम पर नहीं हैं। ऐसे में व्यापार बुरी तरह से प्रभावित होने की आशंका जताई जा रही है। अधिकांश लोगों को बैंकों की हड़ताल के बारे में पता ही नहीं था। वे जब बैंक शाखाओं पर लेन-देन करने पहुंचे तो शाखाओं में ताले लटक रहे थे। छोटे-बड़े व्यापारी भी मुश्किल में दिखाई दिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बैंकों में हड़ताल से करोड़ों का कारोबार प्रभावित