DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

527 सांसदों ने गोद लिये गांव

527 सांसदों ने गोद लिये गांव

सांसद आदर्श ग्राम योजना के अन्तर्गत अब तक कुल 527 सांसदों ने गांव गोद लिए हैं। इनमें राज्यसभा के 125 तथा लोकसभा के 402 सदस्य शामिल हैं। इस तरह अब तक 266 सांसदों ने अभी तक गांव गोद नहीं लिए हैं।
       
27 नवंबर तक प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, केन्द्रीय वाणिज्य मंत्री निर्मल सीतारमण केन्द्रीय सड़क परिवहन और जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी, महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी, सूचना एवं प्रोद्यौगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद आदि ने गांव तो गोद ले लिए हैं पर वित्त मंत्री अरुण जेटली, संसदीय कार्यमंत्री एम.वेंकैया नायडू ने अभी तक कोई गांव गोद नहीं लिया है।
    
इसी तरह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, पूर्वप्रधानमंत्री एच. डी. देवेगौड़ा, सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खरगे ने तो गांव गोद लिया है पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, राज्य सभा में विपक्ष के नेता आनंद शर्मा, माकपा नेता सीताराम येचुरी और डी.राजा समेत कई सांसदों ने अभी तक गांव गोद नहीं लिए हैं। राज्यसभा में बसपा प्रमुख मायावती, जद.यू. प्रमुख शरद यादव, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के शरद पवार आदि ने भी गांव गोद लिए हैं।
       
राज्यसभा में पश्चिम बंगाल से अभी तक एक भी सदस्य ने गांव गोद नहीं लिया है। लोकसभा में पश्चिम बंगाल के केवल दो सदस्यों ने गांव गोद लिया है। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन तथा राज्यसभा के उपसभापतिपी जी कुर्रियन ने भी गांव गोद लिए हैं। हेमा मालिनी ने मथुरा जिले की रावल बांगड तथा विनोद खन्ना ने गुरदासपुर जिले कोतालिब पंडोरी ने गांव गोद लिया है।
       
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वाराणसी जिले की जयापुर पंचायत गोदली है तो लालकृष्ण आडवाणी ने अहमदाबाद जिले की बकराना पंचायत गोद ली है।
       
सुषमा स्वराज ने देवास जिले की अजनास पंचायत गोद ली है। राजनाथ सिंह ने लखनऊ जिले की वेनती पंचायत गोद ली है जबकि नितिन गडकरी ने नागपुर जिले की पंचगांव पंचायत, स्मृति ईरानी ने आनन्द जिले को माघरोल पंचायत, रविशंकर प्रसाद ने पटना जिले की अलावल पुर पंचायत गोद ली है।
       
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रायबरेली जिले की उरवा एक पंचायत, तो राहुल गांधी ने जगदीशपुर दो पंचायत को अपनाया है। मल्लिकार्जुन खरगे ने कर्नाटक यादगीर जिले की कोनकल पंचायत गोद ली है। मुलायम सिंह यादव ने आजमगढ़ जिले की तमौली पंचायत कुमारी मायावती ने लखनऊ जिले की माल, शरद यादव ने मघेपुरा जिले की बालमगडिया, शरद पवार ने सतना जिले की एनकुर पंचायत को अपनाया है।
       
राज्यसभा में महाराष्ट्र के 19 उत्तर प्रदेश के 14 तमिलनाडु के 12 गुजरात के दस, बिहार के 9 केरल के 8, पंजाब, राजस्थान, उडीसा के 6.06 तथा मध्य प्रदेश के 5.05 सांसदों ने गांव गोद लिए हैं। लोकसभा में उत्तर प्रदेश से 68 महाराष्ट्र से 45 बिहार से 38, तमिलनाडु से 29, मध्य प्रदेश से 27, गुजरात से 26, कर्नाटक से 23, केरल से 20, उडीसा से 14, तथा पंजाब से 11 सदस्यों ने गांव गोद लिए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:527 सांसदों ने गोद लिये गांव