DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इस बार 10वीं की ग्लोबल एप्टिट्यूट परीक्षा ऑनलाइन होगी

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की ग्लोबल एप्टिट्यूट इंडेक्स परीक्षा (एसजीएआई) ऑनलाइन आयोजित होगी। यह सिर्फ 10वीं के छात्रों के लिए है। खास बात यह है कि इस बार सिर्फ एक दिन नहीं बल्कि 08 से 12 दिसंबर तक परीक्षा होगी। बोर्ड ने बाकायदा नया पोर्टल http://cbse.nic.in/sgai  लॉन्च किया है।

सीबीएसई के चेयरमैन विनीत जोशी ने बताया कि परीक्षा का यह पांचवां संस्करण है। हमने इस बार ऑनलाइन परीक्षा कराने का फैसला किया है। इसमें कोर्स से इतर विभिन्न परिस्थितियों पर आधारित मानसिक क्षमता परखने के लिए सवाल पूछे जाएंगे। चेयरमैन का कहना है कि ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करने का मकसद छात्रों को तुरंत परिणाम बताना और उन्हें तकनीकी तौर पर मजूबत बनाना है। इसके अलावा मुख्य उद्देश्य 11वीं कक्षा में क्षमता के अनुरूप विषयों का चुनाव कराना है।

बहरहाल, परीक्षा कराना स्कूल के लिए अनिवार्य नहीं है। इसे फिलहाल वैकल्पिक रखा गया है। सिर्फ 10 वीं कक्षा के छात्र इसके दायरे में हैं। इसके जरिये स्कूल छात्रों की तार्किक क्षमता परखने के अलावा रुचि को जान पाते हैं। उनकी रुचि के अनुरूप आगे की पढ़ाई कराई जाती है।
बीते साल के मुकाबले इस परीक्षा के प्रति छात्रों में रुचि बढ़ी है। छात्रों के पंजीकरण में 10 फीसदी का इजाफा हुआ है। अब तक छह लाख छात्र परीक्षा में बैठ चुके हैं। न सिर्फ देश बल्कि दुनियाभर में सीबीएसई इसे आयोजित करने जा रहा है।

ऑफलाइन परीक्षा कंप्यूटर आधारित होगी: परीक्षा ऑनलाइन होगी लेकिन जिन स्कूलों के पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है वहां ऑफलाइन परीक्षा आयोजित की जाएगी मगर ऑफलाइन परीक्षा भी कंप्यूटर पर ली जाएगी। बोर्ड ने ऐसे स्कूलों को कंप्यूटर के साथ ऑफलाइन माध्यम पर परीक्षा लिए जाने वाले सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करने का निर्देश दिया है। इन सॉफ्टवेयर पर सवाल होंगे। छात्र बिना इंटरनेट के जवाब दे सकेंगे। वहीं जहां इंटरनेट की सुविधा है वहां ऑनलाइन परीक्षा होगी।

स्कूल अंकों से करेंगे आकलन: वार्षिक परीक्षा में इसके अंक जोड़ने का प्रावधान नहीं है लेकिन जो अंक मिलेंगे उससे स्कूल छात्रों का आंकलन करेंगे। वे रिपोर्ट बनाएंगे। अभिभावकों को इस परियोजना में शामिल किया जाएगा। इन अंकों का डाटा बनेगा। इसके मुताबिक हर छात्रों की कमजोरी समझी जाएगी और जिन विषयों में उन्हें दिक्कतें आती हैं उन्हें विस्तार से उनकी समझने की क्षमता के अनुसार पढ़ाया जाएगा।

ऐसे करें आवेदन: खास बात यह है कि स्कूल व छात्रों के लिए यह अनिवार्य नहीं है। यदि कोई स्कूल इस परीक्षा को आयोजित करना चाहता है लेकिन कुछ छात्र रुचि दिखाते हैं और कुछ नहीं। ऐसी स्थिति में भी स्कूल परीक्षा ले सकेंगे। भले ही रुचि दिखाने वाले छात्रों की संख्या 50 से कम हो।

इसके लिए प्रत्येक छात्र को 100 रुपये का शुल्क देना होगा। शुल्क देने के बाद पंजीकरण होगा। पंजीकरण छात्र सीधे नहीं कर सकते। छात्रों को इस संबंध में स्कूल में आवेदन करना होगा। उनके आवेदन के आधार पर स्कूल बोर्ड में पंजीकरण करवाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इस बार 10वीं की ग्लोबल एप्टिट्यूट परीक्षा ऑनलाइन होगी