DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेरठः मुठभेड़ में बदमाश ढेर, सिपाही शहीद

मेरठः मुठभेड़ में बदमाश ढेर, सिपाही शहीद

सोमवार रात करीब दो बजे शहर के लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के समर गार्डन इलाके में बदमाश और फैंटम पुलिसकर्मियों के बीच मुठभेड़ हो गई। इसमें पुलिसकर्मियों ने एक बदमाश को मार गिराया, लेकिन इस दौरान एक सिपाही शहीद हो गया। दूसरा सिपाही गंभीर रूप से घायल है, जिसका उपचार मेडिकल कॉलेज में चल रहा है। मंगलवार को बदमाश की शिनाख्त कंकखेड़ा निवासी हिस्ट्रीशीटर लुटेरे नूरा के रूप में हुई।

उधर, मंगलवार को गमगीन माहौल में पुलिस लाइन में अफसरों ने शहीद सिपाही को अंतिम विदाई दी। एकांत यादव बुलंदशहर के नंगला कला के रहनेवाले थे, जबकि लोकेश भाटी नोएडा के राजपुर कलां के हैं।

 घटनाक्रम के मुताबिक लिसाड़ी गेट थाने की फैंटम पर तैनात सिपाही एकांत यादव और लोकेश भाटी समर गार्डन इलाके में गश्त पर थे। टाइल्स फैक्ट्री के पास बाइकसवार को संदिग्ध समझकर जब दोनों सिपाहियों ने रोकने का प्रयास किया तो उसने गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। एक गोली सिपाही एकांत यादव के सीने में लगी। दोनों सिपाहियों ने इसके बावजूद हार नहीं मानी और बदमाश को मार गिराया। मुठभेड़ में दूसरा सिपाही लोकेश भाटी भी घायल हो गया। घायल होने के बाद लोकेश ने सीनियरों को सूचना दी जिसके बाद कई थानों की पुलिस, सीओ कोतवाली, एसएसपी ओंकार सिंह, एसपी सिटी समेत तमाम अफसर मौके पर पहुंचे।

 इसके बाद घायल सिपाहियों और बदमाश को मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। बदमाश को मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। सिपाही एकांत की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें हॉयर सेंटर के लिए रेफर कर दिया। कुछ देर बाद डॉक्टरों ने उन्हें भी मृत घोषित कर दिया। लोकेश भाटी का अभी उपचार चल रहा है। मंगलवार को आईजी जोन आलोक शर्मा, डीआईजी रमित शर्मा, सपा छात्रसभा के प्रदेश अध्यक्ष अतुल प्रधान, विधायक रविंद्र भड़ाना, भाजपा नेता विनीत शारदा आदि ने शहीद सिपाही के पिता सतपाल सिंह (सूबेदार बीएसएफ दिल्ली) व अन्य परिजनों को ढांढस बंधाया।

मंगलवार दोपहर बाद पोस्टमार्टम के बाद शहीद सिपाही एकांत यादव का पार्थिव शरीर पुलिस लाइन ले जाया गया, जहां तमाम अफसरों, कर्मचारियों ने गमगीन माहौल में एकांत को अंतिम विदाई दी। पुलिस गारद शहीद का पाíथव शरीर उसके पैतृक गांव नंगला काला (बुलंदशहर) लेकर गई। वहां राजकीय सम्मान के साथ शहीद सिपाही की अंत्येष्टि की गई। आईजी जोन आलोक शर्मा और डीआईजी रेंज रमित शर्मा ने बताया कि मुठभेड़ में मारा गया बदमाश कंकरखेड़ा का रहने वाला नूरा उर्फ नूर अली है। उस पर 25 से अधिक मुकदमे दर्ज हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेरठः मुठभेड़ में बदमाश ढेर, सिपाही शहीद