DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पोस्ट डॉक्टरल फैलोशिप 2015-16

पोस्ट डॉक्टरल फैलोशिप 2015-16

ऐसे युवा, जो इतिहास, पुरातत्व व संग्रहालय के क्षेत्र में रिसर्च के इच्छुक हैं और पीएचडी की डिग्री प्राप्त हैं, वे पोस्ट डॉक्टरल फैलोशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं। इंडियन काउंसिल ऑफ हिस्टॉरिकल रिसर्च (आईसीएचआर) की ओर से उपलब्ध इस फैलोशिप के माध्यम से विद्यार्थी अधिकतम तीन साल तक रिसर्च प्रोजेक्ट पर काम कर सकते हैं।

सहायता व उसकी अवधि- इस फैलोशिप के लिए चुने जाने वाले युवाओं को प्रति माह 28 हजार रुपए की मदद प्रदान की जाती है, जबकि सालाना आधार पर उन्हें मासिक राहत राशि से इतर 20 हजार रुपए प्रदान किए जाते हैं। जहां तक अवधि की बात है तो ये फैलोशिप 2 साल के लिए दी जाती है और विशेष परिस्थितियों में रिसर्च प्रोजेक्ट कमेटी के निर्देश पर इसे एक साल के लिए बढ़ाया जा सकता है।

अनिवार्य योग्यता- इस फैलोशिप का लाभ उन्हीं आवेदकों को मिलेगा, जिन्होंने अपनी पीएचडी की डिग्री इतिहास, पुरातत्व व संग्रहालय विज्ञान में प्राप्त की होगी। इसके बाद इन आवेदकों को एक प्रवेश परीक्षा व साक्षात्कार की प्रक्रिया से गुजरना होगा। प्रवेश परीक्षा का आयोजन आगामी 8 फरवरी को नई दिल्ली, बेंगलुरु व गुवाहाटी में किया जाएगा, जिसके बाद चुने हुए योग्य उम्मीदवारों को साक्षात्कार से गुजरना होगा। साक्षात्कार आईसीएचआर के नई दिल्ली स्थिति कार्यालय में आयोजित किया जाएगा।

आवेदन की प्रक्रिया- इस फैलोशिप के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और आगामी 10 दिसंबर तक चलेगी। इसके बाद 22 दिसंबर तक आवेदन पत्रों के प्रिंटआउट ऑनलाइन जमा कराये जा सकते हैं। जहां तक प्रवेश परीक्षा की बात है तो विद्यार्थियों के लिए ये परीक्षा 8 फरवरी, 2015 को आयोजित की जाएगी, जिसके परिणामों के आधार पर साक्षात्कार लिए जायेंगे और फिर अंतिम रूप से योग्य आवेदकों का चयन होगा।

आवेदन व अन्य जानकारी के लिए लॉगइन करें
सदस्य सचिव, इंडियन काउंसिल ऑफ हिस्टॉरिकल रिसर्च,
35, फिरोजशाह रोड, नई दिल्ली-110001
वेबसाइट- www.ichr.ac.in   

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पोस्ट डॉक्टरल फैलोशिप 2015-16