DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गैजेट खरीदने में दिखाएं समझदारी

गैजेट खरीदने में दिखाएं समझदारी

आजकल बड़ी कंपनियां अपने उत्पादों को बेचने के लिए कई आकर्षक ऑफर निकाल रही हैं, जैसे अपनी कोई पुरानी डिवाइस दीजिए और नई डिवाइस पर डिस्काउंट पाइए। इसका सबसे बड़ा कारण है बाजार में एक-दूसरे के बीच आगे निकलने की होड़। तो जब भी आप कोई नई डिवाइस खरीदने जाएं तो कुछ बातों का हमेशा ध्यान रखें। आइए हम आपकी कुछ मदद करते हैं-

गैजेट की आपको कितनी जरूरत है
अगर आपकी पुरानी डिवाइस को ही रिपेयर करने या अपग्रेड करने से आपकी जरूरत पूरी हो सकती है तो आप किसी दूसरे उपयोगी गैजेट को खरीद सकते हैं। दरअसल, ऐसा कई बार देखने को मिलता है कि हम अपने पुराने गैजट्स को बिना सोचे-समङो रिटायर कर देते हैं, जबकि उन्हें सिर्फ थोड़ा रिफ्रेश करने की जरूरत होती है।

ट्रेड-इन को नजरअंदाज न करें
इन दिनों बड़े स्टोर्स में ट्रेड-इन का चलन बढ़ता जा रहा है। इसमें आप अपने किसी पुराने गैजेट को लेकर आते हैं और नए गैजेट की खरीद में अच्छा डिस्काउंट पाते हैं। मान लीजिए, आपके पास एक टूटा हुआ आईपॉड है और उसकी कीमत पांच हजार रुपये है तो नए आईपैड के लिए आपको सिर्फ सात से आठ हजार रुपये ही देने पड़ेंगे।

इस्तेमाल किसे करना है 
सिर्फ दिखावे के लिए गैजेट खरीदना समझदारी नहीं है। कंम्यूटर जैसे गैजेट में खासतौर से सोचें कि इसका इस्तेमाल किसे व किस लिए करना है। सिर्फ पोर्टेबिलिटी एक पैमाना न हो। अगर आप सिर्फ पोर्टेबिलिटी पर ध्यान देते हैं तो डेस्कटॉप ज्यादा हैवी और बड़ा लगने लगता है। ऐसे में, स्वाभाविक है कि आपका ध्यान लैपटॉप पर जाएगा। हां, इस बात का जरूर ध्यान रखा जाना चाहिए कि लैपटॉप आपकी जरूरत को पूरा कर रहा है या नहीं। कहीं ऐसा न हो कि मार्केट खरीदने गए तो थे डेस्कटॉप खरीदने, लेकिन घर लौटे किसी महंगे लैपटॉप के साथ।

अगर गैजेट को पहुंच गया नुकसान
मान लीजिए आपने लैपटॉप खरीदा और वह गलती से टूट गया तो आप क्या करेंगे? इसलिए आपको सर्विस प्लान और इंश्योरेंस के बारे में जरूर सोचना चाहिए। यह आपके लिए ज्यादा सस्ता व बेहतर विकल्प होगा, बजाए इसके कि आप रिपेयर व रिप्लेसमेंट के चक्कर में फंसें।

गैजेट मल्टी फंक्शनल हो
खुद से पूछें कि क्या हमें वाकई एक साथ टैबलेट, नेटबुक और आईफोन की जरूरत है ? आप चाहें तो इनमें से किसी
एक मल्टीफंक्शनल गैजेट को खरीदें। हो सकता है कि आप एक बार सोच में डूब जाएं कि फलां आईफोन आपकी सारी जरूरतें कैसे पूरी करेगा। मगर जब बड़े कामों के लिए लैपटॉप है तो यह स्मार्टफोन ही आपके लिए बेहतर होगा।

गैजेट्स की खरीदारी से पहले
अगर आप ज्यादा कंप्यूटिंग करते हैं तो आपके लिए डेस्कटॉप या फिर लैपटॉप बेहतर रहेगा, क्योंकि इसमें मेमरी ज्यादा होती है। लेकिन अगर आप सिर्फ इंटरनेट यूज करने या फिर एंटरटेनमेंट और फेंटेसी के लिए उन्हें खरीदना चाहते हैं तो आपके लिए नेटबुक या टैबलेट सही रहेगा।
कोई भी नया गैजेट लेते समय यह जरूर सोचें कि इसका उपयोग घर में किसे करना है, कितने समय तक करना है और वास्तव में इसकी आपको कितनी जरूरत है।
सेलफोन, कंप्यूटर, लैपटॉप और टीवी जैसे इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स बहुत जल्दी आउटडेटेड हो जाते हैं, इसलिए कोई नया गैजेट बाजार में आते ही खरीदने को उतावले न हो जाएं। कुछ समय प्रतीक्षा करें। हो सकता है अगले ही महीने कोई और नई तकनीक आ जाए। नया गैजेट अगर वाकई बहुत महंगा नहीं है और कुछ समय तक उपयोगी रह सकता है, तभी उसे खरीदें।
गैजेट्स खरीदने से पहले मार्केट सर्वे के अलावा ऑनलाइन रिसर्च भी कर लें। अगर आपके मित्र ऐसे किसी गैजेट का उपयोग कर रहे हों तो उनसे भी राय ले लें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गैजेट खरीदने में दिखाएं समझदारी