DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अनुशासन से मिलती है सफलता

अनुशासन से मिलती है सफलता

एक बार की बात है, एक पिता पतंग उड़ा रहा था और पुत्र बड़े ध्यान से देख रहा था। थोड़ी देर बाद पुत्र बोला, पापा ये धागे की वजह से पतंग और ऊपर नहीं जा पा रही है। इसे तोड़ दो। पिता ने धागा तोड़ दिया। पतंग थोड़ा सा और ऊपर गई, उसके बाद नीचे आ गिरी। तब पिता ने प्यार से पुत्र को समझाया, बेटा, जिंदगी में हम जिस ऊंचाई पर हैं, हमें अक्सर लगता है कि कई चीजें हमें और ऊपर जाने से रोक रही हैं, जैसे-घर, परिवार, अनुशासन, दोस्ती, और हम उनसे आजाद होना चाहते हैं। मगर यही वे चीजें होती हैं, जो हमें उस ऊंचाई पर बना के  रखती हैं। इन चीजों के  बिना हम एक बार तो ऊपर जायेंगे, मगर बाद में हमारा वही हश्र होगा, जो इस पतंग का हुआ है। दुनियाभर में सफल हुए कई व्यक्तियों ने अनुशासन के बहुत सारे गुण बताए हैं। इनमें से कुछ प्रमुख गुण इस प्रकार हैं-

ध्यान केन्द्रित करने में सहायक
दुनियाभर में अपने सौन्दर्य-प्रसाधनों के लिए मशहूर ऐवॉन कंपनी की सी.ई.ओ. शेरी मैककोय ने जब ऐवॉन का कार्यभार संभाला, तब महसूस किया कि उनकी कंपनी के प्रोडक्ट्स को दूसरी कंपनी के प्रोडक्ट्स के सामने बाजार में संघर्ष करना पड़ रहा है। तब उन्होंने अपनी केस स्टडी में पाया कि इसका सबसे बड़ा कारण कंपनी में काम करने वाले लोग हैं, जो अपने काम के प्रति केंद्रित नहीं हैं। इसका सबसे बड़ा कारण अनुशासन है। 

शेरी मैककोय ने स्वीकार किया कि आज की गलाकाट प्रतिस्पर्धा में बने रहने के लिए अनुशासन बेहद जरूरी है। इसलिए मैंने सबसे पहले उन्हें अनुशासित किया।

समय पर काम करने में सक्षम
अनुशासन से व्यक्ति के  व्यक्तित्व में आत्मनियंत्रण भी आता है। उसके बाद बाकी व्यवहार में वे गुण समाहित हो जाते हैं, जो किसी को समय पर काम करने के  लिए प्रेरित करते रहते हैं। ऐसा करने से आप अपने परिवार के लिए भी वह समय निकाल लेते हैं, जिसके  लिए एक आम आदमी संघर्ष करता रहता है। इससे आपकी जिन्दगी में भी खुशहाली बनी रहती है और आपके परिवार के लोग भी आप से प्रसन्न रहते हैं।  

दूसरों के लिए सम्माननीय
अनुशासन से सिर्फ आपको ही फायदा नहीं होता, बल्कि आपका यह अनुशासन आपके लिए वह सम्मान भी लेकर आता है, जो दूसरों को नहीं मिलता। वीसा इंटरनेशनल के संस्थापक डी होक ने अनुशासन की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि प्रबंधन का मतलब लीडरशिप से नहीं है।  लीडरशिप से मतलब है आत्म संयम। लीडरशिप को परिभाषित करते हुए उन्होंने कहा कि यदि आप अपने आप में लीडरशिप क्वालिटी विकसित करना चाहते हैं तो अपने कुल समय का 50 प्रतिशत अपने स्व-संयम के लिए निवेश कीजिए। 20 प्रतिशत उनके लिए निवेश कीजिए, जिनके अधीन आप काम करते हैं और 15 प्रतिशत अपने मित्रों पर निवेश कीजिए।
 
इसके बावजूद यदि आपके अधीनस्थ कर्मचारी आपकी बात नहीं सुन रहे तो समझिए कि आपके भीतर लीडरशिप क्वालिटी नहीं है और आप एक तानाशाह हैं, जो किसी अनुशासन को नहीं मानता। 

स्वस्थ रहने में मददगार
प्राय: देखा यह जाता है कि जो व्यक्ति आलसी और गैर अनुशासित होता है, वह उन व्यक्तियों के मुकाबले ज्यादा समस्याग्रस्त होता है, जो चुस्त-दुरुस्त और अनुशासित होते हैं। सही समय पर घूमना-फिरना, खाना-पीना, सोना-जागना आदमी को दवाइयों से दूर रखता है। यह आपकी काम करने की शक्ति में इजाफा करता है और आपको चुस्त-दुरुस्त रखता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अनुशासन से मिलती है सफलता