DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री गामलिन का निधन

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री गामलिन का निधन

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री जारबोम गामलिन का गुड़गांव में एक अस्पताल में निधन हो गया। उनके परिवार ने आज यह बताया। वह 53 साल के थे। कल रात जब उनका निधन हुआ, उस वक्त वह लीवर थ्रोम्बोसिस से पीड़ित थे। उनके परिवार में पत्नी, तीन बेटियां और एक बेटा है।

परिवार ने बताया कि उनके शव को विमान से मंगलवार को अरुणाचल के पश्चिम सिआंग जिले में आलो ले जाया जाएगा। आलो में 16 अप्रैल 1961 को जन्मे गामलिन ने असम के गोलपाड़ा में सैनिक स्कूल में पढ़ाई की और दिल्ली में सेंट स्टीफेंस कॉलेज से इतिहास में स्नातक किया। 1984 में दिल्ली विश्वविद्यालय के कैंपस लॉ सेंटर से उन्होंने कानून की डिग्री ली। बाद में उन्होंने डिब्रूगढ़ में वकालत की।

वह 1981 से तीन साल के लिए ऑल अरुणाचल प्रदेश स्टूडेंटस यूनियन (एएपीएसयू) के अध्यक्ष रहे। शुरुआत में गामलिन पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल (पीपीए) से जुड़े पर बाद में कांग्रेस में शामिल हो गए। 1999-2004 के दौरान लोकसभा सदस्य रहे। 2004 में वह राज्य विधानसभा में निर्वाचित हुए और गेगांग अपांग मंत्रिमंडल में गह मंत्री बने। 2009 में दोरजी खांडू सरकार में वह बिजली मंत्री बने।

हेलीकॉप्टर हादसे में दोरजी खांडू की मौत के बाद पांच मई 2011 को गामलिन अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। मुख्यमंत्री के रूप में उनका छह महीने का सफर 31 अक्टूबर 2011 को खत्म हो गया जिसके बाद राज्य में राजनीतिक अस्थिरता पैदा हो गयी। गामलिन इस साल भी विधानसभा के लिए चुने गए थे।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री गामलिन का निधन