अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांव-कांव

पुरुष सीख लें चुंबन का बेहतर तरीका हैं तो सब गुरु, पर सैंडिल की इज्जत करते हैं- नहीं सिखले रहेंगे, तो तिलकवा कम हो जायेगा क्या- तो एगो इसका भी काउंसिलिंग करा दीजिए- झुमरी, बोकारो चुंबन विश्वविद्यालय खोलने की योजना है क्या-ोवनो दू-चार गो दांत बचल है उहो तोड़वाइयेगा का- जीतेंद्र तिवारी झारखंड में सरकार है, स्थिरता नहीं : नीतीश उल्टा मत बोलिये सर, स्थिरता तो हइये है, सरकार नहीं है- दिलीप रक्षित सरकार कहां दिखी आपको, हमलोग को तो नहीं दिखती- ज्योति कुमार पृथ्वी की तरह निर्दलीयों में घूमती रहती है- वैद्यनाथ दत्त, रांची झारखंड में बिजली के लिए हाहाकार, सो रही सरकार जनता अपने ही कर्मो का फल भोग रही है यार- चंदन, पलामू वोट के समय जनता सोये, वोट के बाद सरकार- रवींद्र, जमशेदपुर इ महंगाई से भी दू कदम आगे है क्या- मिंटू, धनबाद 24 घंटे में 24 बार जनता बोले हाय हाय और चौबीसों घंटे मंत्री जी जनता को बोलें बाय-बाय- संगीता, चंदवा चीयर गर्ल्स ने बदली ड्रेस इहे सदमा से मुंबई इंडियन बुरी तरह हारा क्या- 0355456 खाली-खाली हैं रानी मुखर्जी खंडाला में कफ्यरू लगा है का- शादी हुई पर बिना दुल्हन लौटी बारात दूलहवा पांचवीं पास से भी तेज है, तुरंते समझ गया- अजय राय, चास टाटा दुनिया के बड़े ब्रांडों में शामिल और हमार एनोस भईया- लिली सजना का सजनी से हो रहा सामना इहे से गरमी और महंगाई दूनो बढ़ल है का- बिल्लो, धनबाद नजरं मिली पर जुबां चुप रही हाले दिल बयान करते, तो आंसू टपक जाते- शिव, चास ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कांव-कांव