DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केंद्रीय पैटर्न अपनाने पर विचार

सचिवालय सेवा गठन के मामले पर कार्मिक सचिव आरएस शर्मा ने सचिवालय के तीनों कर्मचारी संघों को आश्वस्त किया कि उनकी बातों को वह हू-ब-हू सरकार तक पहुंचा देंगे। केंद्रीय पैटर्न पर सेवा गठन की सरकार कोशिश करगी। सभी के हित का ध्यान रखा जायेगा। सोमवार को कार्मिक सचिव ने राज्य सचिवालय सेवा संघ, सचिवालय निजी सहायक संघ और सचिवालय लिपकीय सहायक संघ के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। उनसे सुझाव लिये। वार्ता के बाद सचिवालय सेवा संघ के महासचिव डीएन चौधरी ने बताया कि केंद्र के सभी सरकुलरों, सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट और अन्य प्रावधानों की प्रतियां उन्होंने कार्मिक सचिव को सौंप दी हैं। उन्होंने अवर सचिव के पद को सीमित प्रतियोगिता परीक्षा के आधार पर भरने की अनुशंसा को गलत बताया। एलडी और यूडी संवर्ग के सहायकों के सीमित प्रतियोगिता परीक्षा के आधार पर प्रोन्नति की अनुशंसा को नियम सम्मत नहीं बताया। उनके साथ अध्यक्ष हलधर भारती, एके राय, विश्वनाथ सिंह, ध्रुव प्रसाद, सदन प्रसाद, विक्रमा राम और अन्य उपस्थित थे। उधर निजी सहायक संघ के सजय कुमार सिंह, राम सुरश शर्मा, अरुण कुमार सिंह, अरुण कुमार सिन्हा और अन्य पदाधिकारी भी कार्मिक सचिव से मिले। कार्मिक सचिव ने केंद्रीय पैटर्न पर आवश्यकता आधारित पदों पर पदोन्नति का भरोसा दिलाया। लिपिकीय सेवा संघ के पदाधिकारियों को भी ऐसा ही विश्वास दिलाया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: केंद्रीय पैटर्न अपनाने पर विचार