अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शरद भी बोले, हां भाजपा के साथ मतभेद हैं

ादयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष व एनडीए के कार्यवाहक संयोजक शरद यादव को भरोसा है कि विकास के मुद्दे पर ही बिहार में मतदान होगा। इसका सबसे अधिक लाभ एनडीए के उम्मीदवारों को मिलेगा। हिन्दुस्तान के साथ खास बातचीत में श्री यादव ने स्वीकार किया कि भाजपा के साथ कुछ मुद्दों पर मतभेद है मगर इसका असर रिश्तों पर नहीं पड़ता है। श्री यादव ने कहा कि विधानसभा के पिछले चुनाव में जनता ने हमपर भरोसा किया था। राज्य सरकार के कामकाज से जनता का भरोसा और मजबूत हुआ। विकास की रफ्तार और तेज हो, इसके लिए केंद्र में हमारी मजबूत उपस्थिति जरूरी है। उन्होंने कहा कि दूसर राज्यों में प्राकृतिक आपदाएं आईं तो केंद्र ने पूरी मदद की। बिहार में बाढ़ के समय विनाश हुआ। केंद्र से मदद नहीं मिली। यूपीए में बिहार के लोग मजबूत थे। इन लोगों ने भी केंद्र पर दबाव नहीं बनाया। भाजपा के साथ संबंधों के बार में श्री यादव ने कहा कि हम दोनों अलग-अलग पार्टी हैं। धारा 370, विधायिका में महिला आरक्षण और दलित ईसाइयों और दलित मुसलमानों को आरक्षण देने के मुद्दे पर हमारा स्टैंड भाजपा से अलग है। सरकोर तो साझा मुद्दों पर चलती है। उन्होंने कहा कि राजनीतिज्ञों के भ्रष्टाचार पर बड़ी चर्चा होती है। जनता के प्रति किसी दूसर की तुलना में आज भी नेता ही अधिक एकाउंटेबल हैं। स्विस बैंक में जमा भारतीयों का काला धन एक बार बाहर आ जाए तो पता चले कि 60 साल में किस तबके ने भ्रष्टाचार को सबसे अधिक बढ़ावा दिया। अफसोस है कि केंद्र सरकार इस धन को वापस लाने के लिए पहल नहीं कर रही है। पूरा धन आ जाए तो 45 करोड़ लोगों को एक-एक लाख रुपया रोगार के लिए मिल सकता है। इस समय देश की 80 फीसदी आबादी 20 रुपये रो में गुजारा करती है। इन लोगों की तकदीर संवर जाएगी।ड्ढr ड्ढr मुलायम सिंह यादव, रामविलास पासवान और लालू प्रसाद की नई दोस्ती पर उन्होंने कहा, लालू और मुलायम तो पहले भी एक रहे हैं। पासवान लोकसभा चुनाव के समय दोस्ती करते हैं। फिर अलग हो जाते हैं। बाढ़ आती है तो इंसान और दूसर जीव-ांतु जान बचाने के लिए एकसाथ हो लेते हैं। इनकी दोस्ती कुछ ऐसी ही है। मुलायम तो पहले भी पार्टी तोड़क रहे हैं। एक राष्ट्रीय पार्टी को तोड़कर उन्होंने क्षेत्रीय पार्टी बना ली। उन्होंने कहा कि लालू के रूप में किसी चार्जशीटेड को केंद्र में मंत्री बना कांग्रेस ने पाप किया। श्री यादव ने कहा कि जदयू की स्थिति पहले से अधिक बेहतर रहेगी। बिहार, झारखंड और यूपी में जदयू का भाजपा के साथ गठबंधन है। बाकी राज्यों में जदयू अकेले लड़ रहा है। उन्होंने कहा कि यूपी में बसपा की हालत भी अच्छी नहीं है। बसपा ने नारा दिया था-चढ़ गुंडन की छाती पर, मुहर लगाओ हाथी पर। नारा उलट गया। गुंडे ही हाथी पर चढ़ गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शरद भी बोले, हां भाजपा के साथ मतभेद हैं