अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब भोंदू दूल्हे वापस किए जाने लगे

जिले में कुछ वर्षो पूर्व तक केवल दहेा हत्या, प्रताड़ना व बलात्कार जसी खबरं अखबारों की सुर्खियां बनती थीं। बदले माहौल में हवा उल्टी बहने लगी है और लड़कियां अब कुरूप और अनपढ़ तथा बेमेल लड़कों को दरवाजे पर बारात लेकर आने के बाद भी लौटाने लगी हैं। इस तरह की घटनाएं पिछले वर्ष से गोपालगंज जिले में शुरू हुई हैं। इस वर्ष हाल में सिरिसियां वृति टोला सासामूसा में एक बारात उचकागांव थाने के साथी गांव से गई थी लेकिन बताया जाता है कि लड़के को देख लड़की ने शादी करने से इंकार कर दिया। उसका कहना है कि लड़का अच्छी नौकरी नहीं करता था और देखने में भी सुंदर नहीं था जबकि लड़की पढ़ी लिखी थी। अर्थात माता पिता द्वारा देखे गए लड़के को लड़की ने जब इंकार दिया तो घर वाले भी साथ में हो गए और बारात वापस हो गई।ड्ढr ड्ढr भोर थाने के जगतौली में सीवान जिले के दरौली थाने के करीम गांव से 27 अप्रैल को बारात आई थी। शादी के पूर्व जब दुल्हा आंगन में पहुंचा तो गांव की महिलाओं व लड़कियों ने उससे कुछ अंकों का जोड़ पूछा। उसने जवाब गलत दे दिया। परिणाम यह निकाला कि उसे अनपढ़ दूल्हे राजा से शादी करने से लड़की ने इंकार कर दिया। दुल्हे को आंगन से बिना शादी किए ही वापस लौटना पड़ा। हालांकि बाद में जब इस घटना की जानकारी वरपक्ष और कन्या पक्ष के लोगों को हई तो काफी मशक्कत के बाद दुल्हे के छोटे भाई से उसी लड़की की शादी अब कोर्ट में होने की बात तय हुई है।ड्ढr उधर सीवान जिले के भगवानपुर थाने के मीरहाता गांव में रविवार की रात आई बारात में दूल्हा बिना दुल्हन के लौटने को मजबूर हुआ। इस गांव के उमेश महतो की पुत्री निशा (काल्पनिक नाम) की बारात रामपुर कोठी से आई थी। बैंडबाजे के साथ द्वारपूजा हुई। कन्या निरीक्षण व कन्यादान की रस्मअदायगी भी हुई। परन्तु रोचक स्थिति उस समय उत्पन्न हो गई जब सिन्दूरदान के समय दुल्हन-दूल्हे राजा को बहरा देखकर भड़क गई।ड्ढr वह किसी भी कीमत पर दूल्हे से शादी करने को राजी नहीं हुई। परिानों द्वारा दुल्हन का मान-मनौवल काफी देर तक किया जाता रहा। परन्तु दुल्हन अपने निर्णय पर अडिग रही। इस दौरान वर एवं वधू पक्ष में काफी नोकझोंक भी हुई। परन्तु दुल्हन के निर्णय को देख दूल्हे राजा बिना दुल्हन के लौटने को मजबूर हुए।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब भोंदू दूल्हे वापस किए जाने लगे