अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा के गले की हड्डी बना ब्रजेश का बयान

वाजपेयी सरकार के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बृजेश मिश्र का परमाणु करार पर हाल में दिया गया बयान भाजपा के गले की हड्डी बन गया है। वह उसे न तो निगल पा रही है और न ही उगल। इसीलिये वह बृजेश मिश्र की सीधी आलोचना से बच रही है। उसे भय है कि यदि वह बृजेश मिश्र पर हमलावार होती है तो वे सार भेद खोल देंगे,ोिससे भाजपा बचना चाहती है। इसमे वह सत्य भी है छिपा है कि भाजपा मौजूदा समझौते से कम में तैयार थी। सोमवार को विदेश नीति से जुड़े सवालों पर सफाई जारी करने के मौके पर पार्टी के पूर्व विदेश मंत्री जसवंत सिंह और पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण शौरी ने बृजेश मिश्र के बयान को उनकी निजी राय बताते हुये उन पर कोई सीधा हमला नहीं बोला। उन्होंने कहा कि वे पार्टी में न तो सक्रिय हैं और न ही सदस्य हैं। अरुण शौरी ने इस बात का खुलासा करते हुये कहा कि वे परमाणु करार से जुड़े हर मसले पर हुई बैठकों में मौजूद रहे हैं। उन्होंने बताया कि वे एक अच्छे अधिकारी रहे हैं और उन्होंने अपने काम को अच्छे से किया। वे कभी भी राजनीतिक प्रवक्ता नहीं रहे। याद रहे कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पत्र लिखकर वाजपेयी से परमाणु करार का समर्थन करने को कहा था। उस समय बृजेश मिश्र ने सक्रियता दिखाते हुये वाजपेयी के आवास पर परमाणु करार पर पार्टी के रवैये को बदलने के लिये एक बैठक बुलाई थी। लेकिन पार्टी ने बृजेश मिश्र की अनसुनी करते हुये उसे नकार दिया था। इसी के बाद से बृजेश मिश्र परमाणु करार पर यूपीए की बोली बोल रहे हैं। लेकिन भाजपा उन्हें आड़े हाथों नहीं ले पा रही है। भाजपा ने अपने पुराने स्टैंड पर कायम रहते हुये सोमवार को कहा कि मौजूदा रूप में परमाणु करार स्वीकार नहीं होगा। जसवंत सिंह ने कहा कि यूपीए सरकार आजादी के बाद से अब तक की सबसे कमजोर सरकार है। उसने अमेरिका के साथ हुये परमाणु समझौते में नेपाल में माओवादियों के खतरे तथा तिब्बत में चीन के दमन के बारे में राष्ट्रीय हितों की अनदेखी की तथा आत्मसमर्पण का रवैया अपनाया। विदेश नीति से जुड़े मुद्दों पर पार्टी की राय स्पष्ट करते हुये उन्होंने कहा कि मनमोहन सरकार की नीतियों के चलते भारत की दुनिया में साख गिरी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भाजपा के गले की हड्डी बना ब्रजेश का बयान