DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

द्वारपूजा के समय गोली चली, बच्ची की मौत

शादी का माहौल उस वक्त गम में बदल गया जब द्वारपूजा के समय की जा रही फायरिंग से सात वर्षीया एक बच्ची की मौत हो गई। घटना खिजरसराय थाने के नक्सल प्रभावित बेलमा गांव की है। बेलमा गांव में महेन्द्र सिंह के यहां चंडी (नालंदा) थाने के लखा गांव से बारात आई थी। रविवार की रात करीब 10 बजे दरवाजा लग रहा था। बाराती-सराती द्वारा फायरिंग व आतिशबाजी की जा रही थी। नशे में धुत गांव के एक युवक ने देसी पिस्तौल से फायरिंग की जो छत पर से द्वार पूजा की रस्म देख रही सात वर्षीय लवली को जा लगी। गोली लगते ही छोटी बच्ची ने दम तोड़ दिया और खुशी का माहौल गम में बदल गया। लोगों ने गोली चलाने वाले युवक को पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई की तथा हथियार छीन लिया। इस घटना का आक्रोश बारात को भी झेलना पड़ा। बाराती रात्रि में ही गांव से भाग खड़े हुए। हालांकि दूल्हे को घरवालों ने रखकर गम के माहौल में ही सिंदूर दान की रस्म पूरी करायी।ड्ढr ड्ढr डीएसपी राजवंश सिंह ने बताया कि गौरीचक लखीपुर ओली गांव की लवली अपनी मौसी की शादी में माता-पिता के साथ भाग लेने आई थी। उन्होंने बताया कि इस सिलसिले में खिजरसराय थाने में दो मुकदमा दर्ज किया गया है। घटनास्थल पर पहुंचे थानाध्यक्ष विजय कुमार गुप्ता ने स्थिति का जायजा लिया और लाश को रात्रि में ही उठाकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। थानाध्यक्ष को ग्रामीणों ने पिस्तौल सौंप दिया जिससे बच्ची को गोली लगी थी। इस घटना के बाद गांव में तनाव बना हुआ है। खिजरसराय से सं.सू. के अनुसार पुलिस ने युवक को पकड़ने के लिए छापेमारी की लेकिन वह फरार हो गया था।ड्ढr ड्ढr मंडप में लगी आग से दो बच्चे मरड्ढr डुमरांव (ए.प्र.)। डुमरांव थानान्तर्गत लााखन डीहरा गांव के दलित बस्ती में शादी के दौरान मण्डप में रखे दीपक की लौ से निकली चिनगारी से आग की चपेट में आ दो बच्चे (भगिना-भगिनी) के जल जाने से घटना स्थल पर ही मौत हो गई। दलीत बस्ती निवासी लोटन राम की लड़की सुनिता की शादी के दरम्यान सिन्दूर दान के वक्त आग पकड़ लिया जिसमें शादी में आए भगिना विष्णु कुमार (12 वर्ष), जो कि पुराना भोजपुर तथा कविता (13 वर्ष) सिकरौल की रहने वाली जो इसकी चपेट में आ गए। तेजी से बढ़ रही आग की लपटों ने छत पर सोए इन किशोरों को आग ने लील लिया। इस अगलगी की घटना में छोटन राम के अलावे भूलेटन राम तथा सुद्धेश्वर राम की झोपड़ियां भी जल कर राख हो गई जिसमें शादी के सामान के साथ-साथ अन्य सामान भी जल कर बर्बाद हो गए। इस दौरान आधा दर्जन लोग जख्मी हो गए जिनका निजी क्लीनिक में इलाज किया गया। आग पर काबू पाने के लिए गांव वासियों ने पूरा प्रयास किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: द्वारपूजा के समय गोली चली, बच्ची की मौत