DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोडमैप योजनाओं की जानकारी ली नीतीश ने

कृषि विकास के लिए बने रोडमैप को खरीफ मौसम में खेतों में उतार देने की मंशा के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को संबंधित विभागों के मंत्रियों और अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में कृषि मंत्री नागमणि ,सहकारिता मंत्री गिरिराज सिंह , योजना एवं विकास मंत्री श्रीमती सुधा श्रीवास्तव के अलावा मुख्य सचिव आरोएम पिल्लै, कृषि विकास आयुक्त एनएस माधवन, विकास आयुक्त और योजना सचिव भी उपस्थित थे।ड्ढr ड्ढr मुख्यमंत्री ने रोडमैप में शामिल योजनाओं की प्रगति के बार में अधिकारियों से जानकारी ली और पूरी पारदर्शिता के साथ किसान हित में काम करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि सिर्फ बीजों को बदल कर ही कृषि क्रांति लाई जा सकती है। इसके लिए हर हाल में चार वर्षो में पूरा बीज बदल देने की योजना को ध्यान में रखकर काम होना चाहिए। राज्य में चलाये जा रहे क्रैश प्रोग्राम और बीजग्राम योजना की गहन समीक्षा उन्होंने की। क्रैश प्रोग्राम के लिए हर गांव में दो किसानों के चयन की प्रक्रिया की भी उन्होंने जानकारी ली तो उनकी ट्रेनिंग के बार में भी अधिकारियों से पूछा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कार्यक्रम के लिए वैसे किसानों का चयन होना चाहिए जो कम से कम दो एकड़ में खुद खेती करते हों। इसके अलावा मिट्टी जांच कर यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि जिस फसल की खेती वे करने जा रहे हैं उनके खेत उसके उपयुक्त हैं या नहीं। हर प्रखंड में एक बीजग्राम की स्थापना को मुख्यमंत्री ने कृषि विकास का सबसे महत्वपूर्ण कदम बताया। इसे हर हाल में खरीफ मौसम में शुरू करने का निर्देश दिया। बैठक में किसानों के उत्पादों के लिए बाजार उपलब्ध कराने पर भी चर्चा हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रोडमैप योजनाओं की जानकारी ली नीतीश ने