अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकतंत्र की रक्षा के लिए आगे आए युवा पीढ़ी:के.जे.राव

छात्रों से भरा बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन का हॉल..। सभा को संबोधित कर रहे पूर्व चुनाव पर्यवेक्षक केो राव ने अचानक छात्रों पर सवाल दागा, कितने लोग राजनीति में आना चाहते हैं? एक भी हाथ नहीं उठा। दूसरा सवाल, आखिर क्यों नहीं? इसका जवाब किसी के पास नहीं था। आरकेड बिजनेस कॉलेज के छात्रों के विदाई समारोह में राव ने कहा कि आज हम इांीनियर, डॉक्टर, मैनेजर या कोई अन्य जॉब करना चाहते हैं, लेकिन राजनीति में नहीं आना चाहते। अगर आप जसे शिक्षित युवा राजनीति में नहीं आयेंगे तो देश कैसे आगे बढ़ेगा? लोकतंत्र की रक्षा कैसे होगी? जात-पातसे ऊपर उठकर हमें वोट देने की परंपरा को और मजबूत करनी होगी।ड्ढr ड्ढr श्री राव ने कहा कि हम राजनीति में अपराधीकरण की तो बात करते हैं लेकिन चुनाव के दिन छुट्टी मानकर वोट डालने तक नहीं जाते। इसमें युवाओं की संख्या सबसे अधिक है। आपको राजनीति में आना होगा और वोट डालने भी जाना होगा, तभी यह लोकतंत्र बच सकेगा। उन्होंने कोर्स पूरा कर बाहर निकलने वाले छात्रों को कहा कि आपको जीवन में जो भी मौका मिले, उसका पूरा लाभ उठाने का प्रयास करं। काम कोई छोटा नहीं होता, बस उसे देखने का नजरिया बदलने की जरूरत है। आंध्र प्रदेश में चुनाव कार्य को संपादित करने में लगे श्री राव ने कहा कि पूर राज्य से बैनर, पोस्टर, वाल पेंटिंग हटवाने के साथ-साथ सात हाार अवैध देशी दारू के ठेके बंद करवाए। अगर आपमें कुछ करने की इच्छा हो तो आप निश्चित रूप से उसे कर सकते हैं। बिहार में चुनाव के बार में उन्होंने कहा कि यहां एक बार बेहतर चुनाव का ढांचा बन गया है और उसे बदलने का प्रयास नहीं होना चाहिए। नेताओं पर प्रहार करते हुए उन्होंने कहा कि पांच साल में एक बार आयेंगे। गरीब बस्ती में जायेंगे। गरीब बच्चे को गोद में उठाकर उसके नाक पोछेंगे और दूसर दिन के अखबार में बड़ी सी तस्वीर छपेगी। ऐसे नेताओं से बचें। उनसे पूछा जाना चाहिए कि अपने शासनकाल में आपने कितने किमी सड़क बनवाई? कितने स्कूल भवन, अस्पताल या कॉलेजों का निर्माण कराया?ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि बिहार में चुनाव के समय मैने इन सभी चीजों की भारी कमी पायी थी। चुनाव आयोग पर उंगली उठाने वालों पर भी कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि जब नेताओं पर उंगली उठेगी तो जवाब देना मुश्किल होगा। एक छात्र द्वारा युवाओं का नेतृत्व करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि राजनीति में आकर मुझे वह प्यार नहीं मिल पाएगा जोअभी आपसे मिल रहा है। कार्यक्रम में अतिथियों का स्वागत करते हुए कॉलेज के निदेशक आशीष कुमार ने छात्रों के बेहतर भविष्य की कामना की। कार्यक्रम का संचालन रमण सिन्धी ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लोकतंत्र की रक्षा के लिए आगे आए युवा पीढ़ी:के.जे.राव