अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘सालाना दो एटमी बम बना सकता था सीरिया’

इजरायल की बमबारी में नष्ट किए गए सीरिया के निर्माणाधीन परमाणु संयत्र की एक या दो परमाणु हथियार बनाने की क्षमता थी। हालांकि अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) ने इसे अमेरिका का देर से किया गया खुलासा बताया है। अमेरिकी खुफिया एजेंसी ‘सीआईए’ के निदेशक माइकल हेडन ने मंगलवार को इजरायल की सीरिया पर गत छह सितंबर को की गई सैन्य कार्रवाई को जायज ठहराते हुए यह खुलासा किया। हेडन ने बताया कि इजरायल के हवाई हमले में नष्ट किए गए इस प्लूटोनियम परमाणु संयत्र का निर्माणकार्य पूरा होने की कगार पर था और यह कुछ एक सप्ताह में बन कर चालू होने वाला था। इस परमाणु संयत्र को नष्ट किए जाने के बाद अमेरिका ने इसकी पहली बार तस्वीरें जारी कर इसके बारे में यह पहला बयान जारी किया है। अमेरिका का आरोप है कि उत्तर कोरिया की मदद से सीरिया इसका गुप्त परियोजना के तहत निर्माण कर रहा था। सीरिया ने अमेरिका के इन आरोपों का खंडन करते हुए इजरायल के हवाई हमले में अमेरिका का हाथ होने का आरोप लगाया है। इसके अलावा ‘आईएईए’ के एक करीबी राजनयिक और विशेष ने भी अमेरिका के इस खुलासे को सिद्ध न किए जा सकने लायक बताया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘सालाना दो एटमी बम बना सकता था सीरिया’