DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रंजीत सिन्हा टूजी जांच से हटाए गए

सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई निदेशक रंजीत सिन्हा को 2जी मामलों की जांच से हटा दिया है। शीर्ष अदालत ने गुरुवार को कहा कि सिन्हा इस मामले की जांच से खुद को अलग कर लें। आगे की जांच मामले से जुडम दूसरा वरिष्ठ अधिकारी संभालेगा।


पहली नजर में आरोप सही!  कोर्ट ने कहा, ‘2जी मामले में एनजीओ द्वारा सिन्हा पर कुछ आरोपियों को संरक्षण देने संबंधी आरोपों में पहली नजर में कुछ सच्चाई लगती है। हम आरोप सही मानते हुए यह आदेश दे रहे हैं।’

सीबीआई में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा: प्रधान न्यायाधीश एचएल दत्तू की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने सेंटर फॉर पब्लिक इंटरेस्ट लिटिगेशन की याचिका पर सुनवाई की। कोर्ट ने कहा,‘ऐसा लगता है कि जांच एजेंसी में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा।’ कोर्ट ने कहा इस संबंध में कोई विस्तृत आदेश नहीं दिया जा रहा,क्योंकि हमें सीबीआई की छवि का भी ध्यान रखना है।
चौतरफा घिरे सीबीआई निदेशक : कोर्ट में विशेष लोक अभियोजक आनंद ग्रोवर ने कहा,सिन्हा ने 2जी से जुड़े केस में दखलंदाजी की थी। यदि मुकदमे की सुनवाई में उनके निर्देश माने जाते तो कुछ अभियुक्तों के खिलाफ पूरा मामला ही ध्वस्त हो जाता। वहीं सीबीआई अधिवक्ता के वेणुगोपाल ने सिन्हा द्वारा डीआईजी संतोष रस्तोगी को ‘घर का भेदी’ कहने पर आपत्ति जताई। सीबीआई प्रमुख का कहना था कि रस्तोगी ने ही कुछ दस्तावेज प्रशांत भूषण को दिए, जिनके आधार पर झूठे आरोप लग रहे हैं।

एनजीओ के वकील प्रशांत भूषण की मांग थी कि सिन्हा को 2जी मामलों की जांच से हटाया जाए। क्योंकि उनके घर की विजिटर डायरी में घोटाले से जुड़े अभियुक्तों से मुलाकात का रिकॉर्ड है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रंजीत सिन्हा टूजी जांच से हटाए गए