DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वसूली करने वाले सिपाहियों को जीआरपी थाने से हटाया

यात्रियों को सीट दिलाने के नाम पर वसूली करने वाले छह सिपाहियों को गोरखपुर जीआरपी थाने से हटा दिया गया है। उन्हें मुरादाबाद और लखनऊ अनुभाग भेजा गया है।

गोरखधाम, वैशाली और कुशीनगर एक्सप्रेस में अत्यधिक भीड़ होने के कारण जीआरपी के कुछ सिपाही फायदा उठाते थे और यात्राियों को साधारण श्रेणी व पेंट्रीकार में बर्थ दिलाने का प्रलोभन देते थे। उसके बदले यात्राियों से 200 से 500 रुपए तक की वसूली करते थे। ट्रेन के आने पर लाइन के बीच से यात्राियों को घुसा कर अंदर कर देते थे। ऐसे में जो यात्राी पहले से लाइन थे उन्हें जगह नहीं मिल पाती थी। इस तरह से सीट बेचने पर सिपाहियों की रोजाना 2000 रुपए तक की अच्छी खासी वसूली हो जाती थी। बीते दिनों इस बाबत शिकायतें मिली थी।

जीआरपी इंस्पेक्टर गिरिजा शंकर त्रिपाठी ने बताया कि यात्राियों और कुछ विभागीय लोगों से सिपाहियों द्वारा सीट दिलाने के नाम पर उगाही की शिकायत मिल रही थी। जांच में आरोप सही पाए जाने पर कार्रवाई हुई है। उन्होंने बताया कि अवधेश यादव, हरिवंश भारती, सुधाकर सिंह, कमल किशोर, परमात्मा सिंह और आनन्द प्रकाश के खिलाफ कार्रवाई हुई है। उन्होंने बताया कि कुछ और सिपाहियों के खिलाफ जांच चल रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वसूली करने वाले सिपाहियों को जीआरपी थाने से हटाया