DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टायर चोरी करने वाले चौकी इंचार्ज और सिपाही को जेल भेजा

चौकी के अंदर खड़े ट्रक के नए टायरों पर चौकी इंचार्ज और सिपाही की नियत खराब हो गई। हजारों रुपए में बरंडा के एक ट्रांसपोर्टर से ट्रक के टायरों का सौदा कर उन्हें बेच दिया। वारदात की जानकारी आलाधिकारियों के कानों में पड़ी तो सीओ के निर्देश पर एसओ मौके पर पहुंचे। दरोगा और सिपाही वारदात को अंजाम देते मिले। एसओ ने फटकारा तो दरोगा भिड़ गया और उनसे अभद्रता की फिर सीओ ने मौके पर पहुंचकर दरोगा और सिपाही को गिरफ्तार करवाया। एसएसपी के निर्देशों पर एफआईआर दर्ज कर दोनों को जेल भेज दिया गया है।

मकनपुर चौकी में छह माह पूर्व ट्रक संख्या आरजे 05 जीए 0695 को तत्कालीन एसओ ट्रेनी आईपीएस प्रीती प्रियदर्शनी ने पकड़ा था। कार्रवाई के दौरान ट्रक को मकनपुर चौकी में खड़ा कराया गया था। चौकी में खड़े इस ट्रक में लगे नए टायरों को देखकर चौकी इंचार्ज आरपी सिंह की नियत खराब हो गई। उन्होंने ठठिया कन्नौज थाने में तैनात सिपाही अशोक कुमार जो कि पूर्व में मकनपुर चौकी में तैनात रहा है उससे सम्पर्क किया। दरोगा और सिपाही ने मिलकर ट्रक के टायरों का सौदा बरण्डा निवासी ट्रांसपोर्टर नन्हे कटियार से कर दिया। बुधवार की रात नौ बजे नन्हे ट्रक के टायर खोलने लगा। इसी बीच चौकी के सिपाही वीरेन्द्र सिंह ने मामले की जानकारी सीओ राजेन्द्र धर द्विवेदी को दी। सीओ ने एसओ तत्काल मौके पर पहुंचकर जानकारी करने का निर्देश दिया। एसओ भुपेन्द्र सिंह के पहुंचने पर ट्रांसपोर्टर अपने लोडर से भाग निकला। वह अपने साथ ट्रक के छह टायर भी लाद ले गया। वारदात को देखकर एसओ ने दरोगा को फटकारा तो उसने अभ्रदता की। दरोगा द्वारा की गई अभद्रता की जानकारी सीओ को हुई तो वह भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने दरोगा और सिपाही को गिरफ्तार करवाने के बाद हवालात में लाकर डाल दिया। एसएसपी केएस ईमैनुएल को घटना की जानकारी दी गई। उनके निर्देशों के बाद चौकी के सिपाही वीरेन्द्र सिंह की तहरीर पर दरोगा और आरोपी सिपाही के खिलाफ 381(सरकारी माल की चोरी), 420(धोखाधड़ी), 504(धमकी देना), 506(जान से मारने की धमकी देना) के तहत मामला दर्ज किया गया। गुरुवार को दोनों का मेडीकल कराकर जेल भेज दिया गया।

पहला मामला
बिल्हौर में सीओ राजेन्द्रधर द्विवेदी की कार्रवाई अपने आप में एक मिसाल है। थानों में खड़े वाहनों से माल गायब होना कोई नई बात नहीं है मगर सीओ ने इस कार्रवाई को अंजाम देकर एक नई मिसाल कायम की। उन्होंने पुलिस में फैली गंदगी को कुछ हद तक कम करने का प्रयास किया है। इस तरह की कार्रवाई अपने आप में पहली बार अमल में लाई गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टायर चोरी करने वाले चौकी इंचार्ज और सिपाही को जेल भेजा