DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीएम ने केन्द्र व्यवस्थापकों की बैठक बुलाई

डीएम ने 25 नबंवर को बोर्ड परीक्षा कराने को केन्द्रों के व्यवस्थापकों की बैठक बुलाई है। इसमें केन्द्र व्यवस्थापकों को स्कूल की दस-दस फोटो के साथ उपस्थित होना है। इस प्रकार का प्रयोग जनपद में पहली बार हो रहा है।  

दसवीं एवं बारहवीं बोर्ड परीक्षा कराने को जनपद की छवि नकल कराने वाले क्षेत्रों में रही है। लेकिन इस बार शासन, प्रशासन दोनों ही बोर्ड परीक्षा में पारदर्शिता लाने को प्रयासरत हैं। 25 नवंबर को डीएम ने पॉलीवाल हॉल में केन्द्र व्यवस्थापकों की बैठक बुलाई है। साथ ही निर्देश दिए हैं कि व्यवस्थापक अपने साथ स्कूल के दस फोटोग्राफ भी लेकर आएं, जिसे प्रशासन आधार के रूप में प्रयोग करेगा। फोटो विद्यालयों में व्यवस्थाओं की हकीकत को बयां करेंगे। कई बार स्कूल केन्द्र तो बन जाते हैं, लेकिन वहां व्यवस्थाओं के नाम पर कुर्सी-मेज तक नहीं होती। बाद में अधिकारियों को जैसे-तैसे व्यवस्था करानी होती है। जिलाधिकारी विजय किरन आनंद का कहना है कि बोर्ड परीक्षा केंद्रों की स्थिति सुधारने और परीक्षा की शुचिता को लेकर ऐसा किया जा रहा है, ताकि अंदर छात्रों को कोई परेशानी नहीं आए और बाहरी लोग केंद्र के अंदर प्रवेश नहीं कर पाएं।  


फोटो में क्या-क्या होगा
फिरोजाबाद। डीएम ने केन्द्र व्यवस्थापकों से दस फोटो मंगाए हैं। सेंटर का शौचालय, बाउंड्रीवॉल, परीक्षा कक्ष, कुर्सी-मेज, प्रवेश द्वार, पेयजल व्यवस्था आदि के फोटो लाने होंगे। इन्ही के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
स्थिति सुधार के दिए जा सकते हैं निर्देश

फिरोजाबाद। अगर फोटो में किसी केन्द्र में कमी पाई जाती है तो संभवत: जिलाधिकारी उन्हें निर्देशित कर सकते हैं कि वह परीक्षा के समय से पूर्व व्यवस्थाएं दुरुस्त कराएं।
गलत फोटो लाए तो बाद में होगी कार्रवाई

फिरोजाबाद। आधिकारिक सूत्रों की मानें तो इस समय जो फोटो विभिन्न एंगिलों के मंगाए जा रहे हैं, अगर उसमें गड़बड़ी करके फोटो खिंचवाए गए और लेकर जमा करा दिए तो दिक्कत आ सकती है। बाद में अधिकारी इन्हीं गलत तथ्यों को आधार बनाकर कार्रवाई तय कर सकते हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डीएम ने केन्द्र व्यवस्थापकों की बैठक बुलाई