DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रधानाचार्या की गला रेतकर हत्या

देवरी रोड (ताजगंज) पर ताल सैमरी स्थित रचना पैलेस कालोनी में गुरुवार को दिनदहाड़े घर में घुसकर एक प्रधानाचार्या की गला रेतकर हत्या कर दी गई। घटना को लूट के दौरान हत्या का रूप देने का प्रयास किया गया। महिला के पति की तहरीर ने वारदात को और सनसनीखेज बना दिया। पति का कहना है कि सात साल बाद उसकी पत्नी को लव मैरिज की सजा दी गई है। दस साल बाद जेल से रिहा हुए पत्नी के सगे भाई ने वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस भी इसे सही मान रही हैं। सबूत भी मिले हैं।

घटना की जानकारी दोपहर करीब एक बजे हुई। तेहरा (सैंया) के गांव नगला छारई निवासी नेतराम सिंह कुशवाह अपनी पत्नी आरती चाहर (33) और दो बेटों के साथ रचना पैलेस के कोठी नंबर 99 में रहते हैं। नेतराम सिंह कुशवाह का तेहरा में सुमित्र देवी इंटर कॉलेज है। पत्नी उसी में कार्यवाहक प्रिंसीपल थीं। दिन में घर पर आरती और डेढ़ वर्षीय बेटा युवराज अकेले थे। छह वर्षीय बड़ा बेटा हर्षित स्कूल गया था। दोपहर को वह स्कूल से लौटा। उसने देखा कि मां पलंग पर लेटी हुई है। उसे गले में चोट लगी है। खून बह रहा है। वह घबरा गया। दो मंजिला मकान में पहली और दूसरी मंजिल पर किराएदार रहते हैं। हर्षित के चीखने पर किराएदार नीचे आ गए। कमरे की हालत देखकर उनके होश उड़ गए। तत्काल पुलिस को सूचना दी। खबर मिलते ही सीओ सदर असीम चौधरी, एसओ ताजगंज मधुर मिश्र फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए।

महिला का सिर पलंग के पीछे रखे बक्से पर टिका था। धड़ पलंग पर था। गला कटा हुआ था। पास ही एक धारदार आरी पड़ी थी। महिला के गले से चेन और कानों से कुंडल गायब थे। सूचना मिलते ही आरती के पति नेतराम भी आ गए। उन्होंने आकर घर देखा तो पुलिस को बताया कि बक्से खोले गए हैं। यह मामला लूट का नहीं है। उनके साले राकेश चाहर ने हत्या की है। वह हाल ही में जेल से रिहा हुआ है। उसे बलात्कार में दस साल की सजा हुई थी। उसकी जेल में लोकेश से दोस्ती हो गई थी। वह लूट में बंद था। बुधवार को राकेश घर आया था। वह उनकी लव मैरिज से खफा था। उस समय जेल में बंद था, इसलिए कुछ नहीं कर पाया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: प्रधानाचार्या की गला रेतकर हत्या