DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुछ लोगों ने युवक को चलती ट्रेन से फेंका

कासगंज से कानपुर की ओर जा रही पैसेंजर ट्रेन में गुरुवार दोपहर को कुछ लोगों ने युवक को चलती ट्रेन से फेंक दिया। खरपरा-गंजडुंडवारा के बीच हुई घटना के दौरान युवक के पिता भी साथ थे। उनके शोर मचाने पर आरोपियों ने चेन खींचकर ट्रेन रुकवाई और भाग निकले। उधर युवक की मौत हो चुकी थी। पिता ने पांच लोगों के विरुद्ध थाना जीआरपी कासगंज में नामजद तहरीर दी है।

गुरुवार को जैथरा के गांव नगला परमसुख निवासी अशोक कुमार पुत्र सुखराम पुत्र उपेन्द्र सिंह, नगला चिना निवासी आलेश कुमार पुत्र पातीराम, नगला परमसुख निवासी राजकुमार पुत्र सुखराम किसी काम से कासगंज गए थे। सभी दोपहर में कासगंज-कानपुर ट्रेन (05038) से कासगंज से लौट रहे थे। करीब साढ़े 12 बजे जैसे ही ट्रेन ग्राम खरपरा और गंजडुंडवारा के बीच पहुंची। तभी नगला परमसुख निवासी हेम सिंह, मोहरपाल पुत्रगण भीकन, सुरेश, मुनीश पुत्रगण मोहरपाल नगला डरू निवासी कुंवर सिंह पुत्र मलखान सिंह ने उपेन्द्र सिह को ट्रेन से नीचे फेंक दिया।

घटना के बाद पिता अशोक कुमार के चीखने-चिल्लाने पर आरोपी चेन खींचकर भाग निकले। जब तक लोग उपेन्द्र के पास पहुंचे वह दम तोड़ चुका था। उसके पिता अशोक कुमार ने बताया कि आरोपी उनके परिवार से ही हैं। घटना के पीछे नगला चंदन में बनाए गए स्कूल का विवाद बताया जाता है। जिसे लेकर एक दिन पहले ही आरोपियों और उपेन्द्र के बीच कहासुनी हुई थी। इस दौरान आरोपियों ने उसे और उनके पुत्र को जान से मारने की धमकी दी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुछ लोगों ने युवक को चलती ट्रेन से फेंका