DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दोनों नाबालिग पुत्रियों के साथ जबरन करता रहा रेप

पत्नी के मरने के बाद अपनी दो नाबालिग पुत्रियों के साथ वर्षों तक दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने वाले दुष्कर्मी पिता को गुरुवार को उम्रकैद की सजा सुनाई गयी। यह फैसला प्रथम अपर जिला व सत्र न्यायाधीश जेपी मिश्र की कोर्ट में  सुनाया गया। अभियोजन की ओर से इस मामले में पॉक्सो मामलों के स्पेशल पीपी राजेश कुमार ने बहस की। अभियोजन की ओर से इस मामले में 6 गवाह पेश किए गए जबकि बचाव पक्ष ने भी अपनी ओर से दो गवाह हाजिर किए। कोर्ट ने ट्रायल के दौरान उपलब्ध साक्ष्य़ के आधार पर केदार साह को दोषी पाते हुए उसे उम्रकैद की सजा सुनाई।

बता दें कि दो नाबालिग पीड़िताओं में से एक ने 2013 में अपने पिता केदार साह के खिलाफ नगर थाना में मुकदमा दर्ज कराया था। उसने आरोप लगाया था कि उसके पिता उसकी मां के साथ बराबर मारपीट करते थे। इस पर उसने खुदकुशी कर ली । मां की मौत होते ही दोनों बहनों के अकेले पड़ने के बाद  उसके पिता जबरन  दुष्कर्म किया। पीड़िताओं के द्वारा विरोध किए जाने के बाद कई बार उसके पिता दोनों को नींद की दवा खिला कर जबरन दुष्कर्म करते रहे। पीड़िताओं में से एक का गर्भपात भी पिता ने कराया था। इस घटना से परेशान पीड़िता ने अपनी मौसी से आपबीती सुनाई। इस मौसी के सुझाव और अन्याय के खिलाफ पीड़िता ने अपने पिता के खिलाफ केस दर्ज कराया।

घटना से जुड़े तथ्य
केस दर्ज-30 जुलाई 2013
अभियोजन की ओर गवाह- 6
बचाव पक्ष की ओर से गवाह-2
आरोपित का बयान-9 सितम्बर 2014
फैसला-18 नवम्बर 2014
सजा के बिंदु पर सुनवाई- 20 नवम्बर

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दोनों नाबालिग पुत्रियों के साथ जबरन करता रहा रेप