DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीएचयू में छात्र परिषद चुनाव के विरोध में कुलपति और रेक्टर पर हमला

बीएचयू में छात्र परिषद चुनाव के विरोध में कुलपति और रेक्टर पर हमला

काशी हिंदू विश्वविद्यालय में छात्र परिषद चुनाव के विरोध ने गुरुवार को हिंसक रूप ले लिया। केन्द्रीय कार्यालय में अपने कक्ष में बैठे कार्यकारी कुलपति राजीव संगल और रेक्टर प्रो. कमलशील पर हमला कर दिया। उपद्रवी छात्रों ने परिसर में कई स्थानों पर पुलिस पर पथराव किया, टाटा मैजिक व बाइक फूंक दी। छात्रों को खदेड़ने के लिए पुलिस एवं पीएसी के जवानों ने कई बार लाठीचार्ज किया। कई राउंड फायरिंग की भी खबर है।

पथराव और पुलिस फायरिंग में एक सब इंस्पेक्टर समेत कई छात्र घायल हो गए हैं। सुबह से शाम तक चले विरोध प्रदर्शन को नियंत्रित करने के लिए अतिरिक्त फोर्स के साथ जिलाधिकारी प्रांजल यादव समेत कई आला अधिकारी परिसर में पहुंच गए। वहीं, गर्म माहौल के बीच परिसर में एक बार छात्र परिषद चुनाव स्थगित होने की खबर तेजी से फैली मगर समाचार दिए जाने तक विश्वविद्यालय प्रशासन ने चुनाव स्थगित होने की पुष्टि नहीं की

बीएचयू में छात्र परिषद चुनाव के लिए बुधवार से नामांकन के साथ विरोध भी शुरू हो गया था। विद्यार्थी परिषद, राष्ट्रीय छात्र संगठन, आइसा समेत सभी छात्र संगठन इसका विरोध कर रहे थे। विरोध को देखते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने बुधवार देर शाम जिला प्रशासन से मदद मांगी थी।

अनुमान के मुताबिक इस निर्णय के विरोध में छात्रों के अलग-अलग ग्रुप ने गुरुवार सुबह से ही विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार से लेकर विभिन्न संकायों और छात्र कल्याण भवन में प्रदर्शन शुरू कर दिया। सुबह 11 बजे सिंह द्वार से माहौल गर्म हो गया जब वहां द्वार बंद कर बैठे छात्रों को खदेड़ने के लिए पीएसी ने पथराव कर दिया। परिसर की ओर लौटे छात्रों ने लाठीचार्ज का जवाब पथराव से दिया। यहां लाठीचार्ज और पथराव में लगभग एक दर्जन छात्र घायल हो गए। एक सब इंस्पेक्टर को भी चोटें आईं।

उसी वक्त सर सुंदरलाल चिकित्सालय में मरीजों व तीमारदारों की भारी भीड़ जमा थी। उनमें भी अफरातफरी मच गई। विरोध को देखते हुए बीएचयू के सभी प्रवेश द्वार बंद करा दिए गए। इससे छात्रों के अलावा आम लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। कुछ देर शांत रहने के बाद छात्रों का हुजूम बिड़ला-सी हॉस्टल के सामने जुटा और सामने से गुजर रहे एक मालवाहक वाहन (टाटा मैजिक) को फूंक दिया। वह पूरी तरह जल गया। ड्राइवर किसी तरह जान बचाकर भागा। इसकी सूचना मिलने पर मुख्य द्वार व अन्य स्थानों पर जमा पुलिस भी हॉस्टल की ओर बढ़ चली। पुलिस फोर्स को आता देख छात्रों ने एक बार फिर पथराव शुरू कर दिया। छात्रों को तितरबितर करने के लिए पुलिस ने कई राउंड हवा में गोलियां चलाईं और रबर बुलेट छोड़े।  

दबाव बढ़ता देख छात्र हॉस्टल में अंदर चले गए और वहीं से प्रशासन विरोधी नारेबाजी करने लगे। बाहर मोर्चाबंदी किए पुलिस के जवान खड़े थे। कुछ मिनट बाद जिलाधिकारी व अन्य अफसर भी वहां पहुंच गए। उनके निर्देश पर पुलिस  के जवान हॉस्टल में घुस गए और कमरों में घुसकर छात्रों की पिटाई शुरू कर दी। पुलिस पिटाई से कई छात्र लहूलुहान हो गए।

यहां से बचकर निकले प्रदर्शनकारियों का एक ग्रुप सेंट्रल आफिस पहुंचा और वहां खड़ी एक बाइक में आग लगा दिया। वहां कुलपति कार्यालय में तोड़फोड़ की। कक्ष में बैठे प्रभारी कुलपति और रेक्टर प्रो. कमलशील को भी पीट दिया। सुरक्षा गार्डों की ओर से चलाई गोली से शिवम नामक छात्र घायल हो गया। गोली के उसके पैर में लगी है। उसे पुलिस ने सर सुंदरलाल चिकित्सालय में भर्ती कराया है। इसके अलावा बिड़ला-सी हॉस्टल के पास पुलिस फायरिंग से योगेश नामक छात्र के भी घायल होने की सूचना है। शाम 4-6 बजे के बीच चले उपद्रव के बाद पूरा परिसर पुलिस व अर्द्धसैनिक बलों की छावनी में तब्दील हो गया है।


बवाल
बिड़ला हॉस्टल के सामने फूंकी टाटा मैजिक, पुलिस ने की कई राउंड फायरिंग
हॉस्टल के कमरों में घुस कर छात्रों की जमकर हुई पिटाई, कई घायल
 विवि परिसर में पूरे दिन चली पुलिस-पीएसी और छात्रों के बीच तीखी झड़प
छात्रों को खदेड़ने के लिए कई बार हुआ लाठीचार्ज
कई थानों की पुलिस, केन्द्रीय अर्द्ध सैनिक बल के साथ आला अफसर मौके पर

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीएचयू में चुनाव के विरोध में कुलपति, रेक्टर पर हमला