DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चेनाब घाटी में पर्यटन विकास है सबसे बड़ा मुद्दा

चेनाब घाटी में पर्यटन विकास है सबसे बड़ा मुद्दा

चेनाब के इस इलाके को इसकी खूबसूरती की वजह से लोगों के बीच छोटा कश्मीर के नाम से जाना जाता है, लेकिन पहाड़ों से घिरे भदरवाह के लोगों का आरोप है कि भेदभाव के वजह से विकास की बयार उनके यहां तक नहीं पहुंची है। उनके यहां आम पर्यटक सुविधाओं तक का अभाव है।

जम्मू क्षेत्र में पड़ने वाले भदरवाह में पहले चरण के दौरान 25 नवंबर को चुनाव होना है। वहां के अधिकतर निवासियों का कहना है कि इस बार चुनाव में मत वे उसी प्रत्याशी को देंगे जो उनके इलाके को भारत के पर्यटन मानचित्र पर जगह दिलाएगा। भदरवाह के एक निवासी मनोज कुमार का कहना है, हमारे पास सबकुछ है यहां, खूबसूरत घास के मैदान, पहाड़ियां, हरे भरे जंगल और मनोरम झरने लेकिन हमें हमेशा नजरअंदाज किया गया है।

कुमार ने बताया कि इस बार यहां के लोग एक ऐसे प्रतिनिधि को चुनेंगे जो उन्हें विकास का हिस्सा बनाए। भदरवाह के ही एक अन्य निवासी ओम प्रकाश ने बताया, भदरवाह में हमेशा हमें नजरअंदाज किया गया है लेकिन अब और ऐसा नहीं चलेगा। यहां आम पर्यटक सुविधाओं का भी अभाव है। इसलिए इस बार हम उस प्रत्याशी को वोट देंगे जो सिर्फ वादे न करे बल्कि क्षेत्र में विकास भी लाए।

जम्मू-कश्मीर के चुनाव में भाग ले रही लगभग सभी पार्टियां जहां चेनाब घाटी के मतदाताओं को लुभाने के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं वहीं चेनाब घाटी के लोगों को भी पार्टियों के वरिष्ठ राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय नेताओं से सीधी बात करने का मौका मिल रहा है। पार्टियों को उम्मीद है कि राज्य में बनने वाली अगली सरकार में यहां की सीटें निर्णायक भूमिका निभाएंगी।

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्षा महबूबा मुफ्ती और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद पहले ही क्षेत्र में कई रैलियां कर चुके हैं। भाजपा ने भी अपने सभी वरिष्ठ नेताओं को प्रत्याशियों के समर्थन में चुनाव प्रचार करने के लिए चेनाब घाटी में उतार दिया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह गुरुवार और शुक्रवार को किश्तवाड़ और भदरवाह में कई रैलियों को संबोधित करने वाले हैं। पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह भी कल रामबन में एक रैली को संबोधित करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 22 नवंबर को किश्तवाड़ में एक जनसभा करना तय है और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी 21 नवंबर को बनिहाल में एक रैली को संबोधित करेंगी। स्थानीय बलबीर सिंह का कहना है कि आप खुद ही समझ सकते हैं कि चेनाब घाटी में चुनाव इस बार कितना महत्वपूर्ण है इसीलिए सभी वरिष्ठ नेताओं की चुनाव प्रचार सूची में यहां का नाम अवश्य है। यहां के निवासियों की कई मांगें हैं लेकिन सबसे मुख्य मांग पर्यटन का विकास करना है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चेनाब घाटी में पर्यटन विकास है सबसे बड़ा मुद्दा