DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रामपाल मामला: नौ मौतों का दावा, सौंपे चार शव

रामपाल मामला: नौ मौतों का दावा, सौंपे चार शव

स्वयंभू संत रामपाल के हिसार स्थित सतलोक आश्रम में उसके समर्थकों और पुलिस में झड़पों के बीच रहस्यमयी परिस्थितियों में मृत चार महिलाओं और अस्पताल में मृत दो अन्य लोगों में से तीन की ऑटोप्सी रिपोर्ट अधिकारियों को सौंप दी गयी है।

पुलिस ने कहा कि आश्रम अधिकारियों द्वारा सुपुर्द किये गये तीन शवों की प्रारंभिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार शवों पर चोट का कोई निशान नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि दो अन्य शवों का पोस्टमार्टम चल रहा है।

हजारों बंधक, नहीं मिल रहा खाना
आश्रम से बाहर निकले साधक मध्यप्रदेश के मुरैना निवासी रामलाल व नानक ने बताया कि पिछले करीब सात दिन से उनको बंधक बनाया गया था। उनके अलावा करीब छह हजार लोग ऐसे हैं जो बाहर निकलना चाहते हैं, मगर उनको आने नहीं दिया जा रहा। काफी साधकों की तबीयत भी खराब है। आसू गैस के गोले के धुएं से उनकी तबीयत ज्यादा खराब हो गई। आश्रम से बाहर आए साधकों का कहना है कि उनको खाना भी नहीं दिया जा रहा। यदि वह बाहर जाने की बात करते थे तो उनको पुलिस द्वारा गिरफ्तार करने की बात कह कर डराया जाता रहा। आश्रम में उनको खाना भी नहीं मिल रहा था। जो अभी अंदर लोग फंसे है उनको भी खाना नहीं मिल रहा। उनको अलग से रखा गया हैं।

नौ मौतों का दावा, आश्रम से सौंपे चार शव

मंगलवार को पुलिस द्वारा चलाए गए ऑप्रेशन के दौरान आश्रम ने आरोप लगाया था कि आश्रम में मौजूद 9 लोगों, जिनमें महिलाएं व बच्चें है, की मौत हो गई है लेकिन आश्रम की ओर से पुलिस को बुधवार को चार शव सौंपे गए हैं। पुलिस के अनुसार इनमें एक महिला व डेढ़ साल के एक बच्चे की प्राकृतिक मृत्यु हुई है। मृतक महिलाओं में लगभग 31 वर्षीय सविता पत्नी शिवपाल वासव निवासी रोगनपुर, तहसील आईया, जिला ओटिया, उत्तर प्रदेश की रहने वाली है, परंतु वर्तमान में लखपत कालोनी मीतापुर, नई दिल्ली की निवासी है। लगभग 45 वर्षीय संतोष पत्नी राममेहर निवासी भगवतीपुर जिला रोहतक की रहने वाली है। इसी तरह 5० वर्षीय मलकीत कौतर पत्नी जरनैल सिंह निवासी शेखपुरा धूरी, संगरूर, पंजाब की रहने वाली है। लगभग 7० वर्षीय राजबाला निवासी बिजनौर की रहने वाली है। इस ऑप्रेशन के दौरान सैंकड़ों लोगों के घायल होने का समाचार है।

महिला व बच्चे की बीमारी से मौत
पुलिस के अनुसार 2० वर्षीय महिला रजनी पत्नी सुरेश प्रजापत निवासी जखोरा जिला ललितपुर, उत्तर प्रदेश की रहने वाली है और आज प्रात: चार बजे गंभीर अवस्था में आश्रम से बाहर आई जिसे हार्ट वाल्व की समस्या थी। उसका उत्तर प्रदेश में इलाज चल रहा था। रजनी को तुरंत अग्रोहा मेडिकल कालेज ले जाया गया परंतु आज प्रात: आठ बजे उसकी मृत्यु हो गई। इसी तरह एक डेढ़ वर्ष के शिशु पुत्र विपिन प्रताप सिंह छतरीया निवासी गांव मावा-5, तहसील गुर्द, जिला रेवा, मध्य प्रदेश की सतलोक आश्रम में मृत्यु हो गई। बच्चे की मां निशा ने बताया कि उसके बच्चे को जन्म से ही दौरे पड़ते थे और जब उसने टीवी पर रामपाल के चमत्कारों के बारे में सुना तो वह भी मध्यप्रदेश से अपने बच्चे को रामपाल का आशीर्वाद दिलवाने के लिए आई लेकिन यहां पर आकर फंस गई। किसी ने उसकी नहीं सुनी और उसे ढोंगी बाबा के कारण अपना बच्चा खोना पड़ा।

महिलाओं ने लगाए छेड़छाड़ व दुष्कर्म के संगीन आरोप
पुलिस के ऑप्रेशन के दौरान अनेक ऐसी महिलाएं आश्रम से बाहर निकाली गई, जो ढोंगी बाबा के चेलों की शिकार हो चुकी थी। यदि महिलाओं की माने तो आश्रम में बाबा के चेलों ने उनसे न केवल छेड़छाड़ व अश्लील हरकतें की बल्कि कई महिलाओं ने तो दुष्कर्म करने के आरोप भी जडम् दिए। महिलाओं से दुष्कर्म के आरोपों में कितनी सच्चाई है, तो पुलिस की जांच व मेडिकल रिपोर्ट के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा लेकिन यह तय है कि आश्रम में महिलाओं की इज्जत पर हाथ अवश्य डाला गया।

गुस्साए लोगों ने फूंके रामपाल के वाहन
रामपाल आश्रम द्वारा क्षेत्र में किए जा रहे क्रियाकलापों को क्षेत्रवासी पचा नहीं पा रहे हैं। क्षेत्रवासी दो दिनों से कथित बाबा के खिलाफ गुस्से में है और इस आश्रम को यहां से तहस-नहस करवाना चाहते हैं। लोगों ने इस आश्रम के संचालक व उसके अनुयायियों पर अनेक संगीन आरोप लगाए हैं। इसी के चलते बुधवार शाम को गुस्साए लोगों ने रामपाल के आश्रम से जब्त किए गए दो-तीन वाहनों को आग के हवाले कर दिया। मौके पर मौजूद दमकल की गाड़ियों ने आग पर काबू पाने का प्रयास किया लेकिन जब तक काबू पाया जाता, तब तक वाहन काफी हद तक जल चुके थे। इसके अलावा लोगों ने सैंकड़ों वाहनों में तोड़फोड़ की और जमकर गुस्सा निकाला।

रामपाल के सैंकड़ों समर्थकों पर केस दर्ज
बरवाला में सतलोक आश्रम के संचालक रामपाल की गिरफ्तारी के लिए चलाए जा रहे आपरेशन के दौरान 12 लोगों के नाम सहित अन्य नाम पता नामालूम के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस के अनुसार रामपाल, रामकुमार, राजकपूर, महेन्द्र, पुरूषोत्तम, धर्मबीर ढाण्डा, तरूण कुमार निवासी सतलोक आश्रम बरवाला, दीपदास पुत्र पुरूषोत्तम दास निवासी गाटीवाला, बलजीत सिंह पुत्र अरूण निवासी लक्ष्मी विहार बरवाला, सिद्धार्थ पुत्र हेतराम विश्नाई निवासी सैक्टर-15, रविन्द्र पुत्र राममेहर निवासी सुलाना, जितेन्द्र पुत्र इन्द्र सिंह निवासी नयाबास सहित सैंकडमें लोगों पर धारा 1०7, 147, 148, 149, 186, 188, 12०बी, 121, 121ए, 122, 123, 123, 224, 225, 3०7, 332, 353, 426 व शस्त्र अधिनियम के तहत के दर्ज किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रामपाल मामला: नौ मौतों का दावा, सौंपे चार शव