DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नशे में धुत पुलिस वाले कपड़े उतारकर नाचे

दबंगई, दारू और दहशत। पुलिस का एक बार फिर यही चेहरा सामने आया। बर्थडे पार्टी के बहाने बुक कराए एक बैंक्वेट को पुलिस वालों ने न सिर्फ बार बना डाला बल्कि यहां रातभर ताकत का ऐसा तमाशा दिखाया जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता है। उन्होंने पहले यहां जमकर जाम छलकाए फिर अपने कपड़े उतारे और डीजे पर बेसुध होकर नाचने लगे। नशा जब और गहरा हुआ तो वे अपनी बाइक ही हॉल के अंदर ले आए और फिल्मी अंदाज में स्टंट करने लगे। बैंक्वेट मालिक उनके आगे गिड़गिड़ाता रहा लेकिन पुलिस वालों ने उसको तमंचा दिखाकर भगा दिया।

हैरत की बात तो यह है कि इस बैंक्वेट के ठीक सामने अपर पुलिस अधीक्षक कार्यालय है। इसका भी इन सिपाहियों को कोई खौफ नहीं था। मुरादाबाद मार्ग पर बने इस लवर्स प्वाईंट बैंकेट हाल को कुछ दिन पहले बकायदा तीन पुलिस कर्मियों ने के लिए एक बच्चाे की बर्थडे पार्टी के लिए बुक कराया था। शाम को पार्टी शुरू होनी थी। लिहाजा यहां डीजे और खाने की सारी तैयारी कर बैंक्वेट मालिक उनके इंतजार में था। रात नौ बजे यहां तीस से अधिक पुलिस कर्मी बाइकों और जीपों से पहुंचे। सभी वर्दी में थे। पहले उन्होंने अपनी वर्दी उतारी और गाड़ी में रख दी। इसके बाद वे शराब की बोतले लेकर बैंक्वेट के अंदर दाखिल हो गए। बैंक्वेट मालिक ने रोका तो उन्होंने वरदी की धौंस दिखाते हुए उसे वहां से भगा दिया। इसके बाद यहां शराब की महफिल जमी। इसके बाद तो पार्टी ने कुछ और ही रूप ले लिया। नशे में धुत पुलिस वालों ने अपने बाकी कपड़े भी उतार दिए और डीजे में जमकर नाचे। कुछ सिपाही तो हॉल मेंअपनी बाइक तक लेकर घुस गए और फिल्मी अंदाज में स्टंट किया। बवाल बढ़ता देख बैंक्वेट मालिक ने यहां की बिजली बंद कर दी तो पुलिस वाले और भड़क गए। उन्होंने उसकी कनपटी पर पिस्तौल रख दी। रात दो बजे तक पुलिस वालों ने यहां जमकर बवाल काटा।

                                                                                                                                           
पुलिस नियमावली में साफ लिखा है कि कोई भी पुलिसकर्मी सेवा में आने के बाद ऐसा कोई कार्य नहीं करेगा, जिससे विभाग की छवि धूमिल हो। भले ही पुलिसकर्मी छुट्टी पर रहे, प्रतिनियुक्ति पर हो या फिर डय़ूटी के बाद घर पर। वह सदैव अपने पद की गरिमा का ख्याल रखेंगे। साथ ही विभाग की छवि को बेहतर बनाने की कोशिश करते रहेंगे। शराब पीकर हंगामा करने या मारपीट करना अशोभनीय कृत्य है और इसके लिए उन पर कार्रवाई होनी चाहिए। पूर्व में भी इस तरह की तमाम घटनाएं प्रकाश में आ चुकी हैं, जिस पर संबंधित पुलिसवालों के खिलाफ कार्रवाई भी हो चुकी है।
हाकिम राय, रिटायर्ड डिप्टी एसपी

ऐसी महत्वपूर्ण जगह है ये तैनात
सूत्रों के मुताबिक इनमें ये पुलिस वाले थे जिनकी डयूटी जनपद में खजाने की रखवाली, बैंकों की सुरक्षा जैसी अहम जगहों पर थी। क्राईम ब्रांच के सिपाही भी इनमें शामिल थे।

लखनऊ में मुंशिफ मजिस्ट्रेट हुए थे बर्खास्त
संभल वाली घटना की तरह लखनऊ में भी कुछ माह पूर्व एक ट्रेनी मुंशिफ मजिस्ट्रेट और उनके साथियों ने डय़ूटी करने के बाद किसी रिश्तेदार की शादी समारोह में जाकर हंगामा किया था। शराब पीकर उन्होंने वहां लोगों के साथ मारपीट भी की थी। इस मामले में विभागीय जांच हुई और डेढ़ माह पहले उन्हें सेवा से बर्खास्त कर दिया गया था। यह मामला संभल के पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई के लिए नजीर बन सकता है। हालांकि अफसरों ने जांच कराने की बात कही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नशे में धुत पुलिस वाले कपड़े उतारकर नाचे