DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केडीए में ठेकेदार ने तानी जेई पर रिवॉल्वर

भुगतान न होने पर नशे में धुत ठेकेदार ने अवर अभियंता के साथ खुलेआम अभद्रता की। गाली-गलौज करते हुए रिवॉल्वर तान दी। इससे केडीए में हड़कंप मच गया। घटना से आक्रोशित जेई व कर्मचारियों ने ठेकेदार की जमकर पिटाई की और सचिव कार्यालय ले गए। वहां पर भी काफी देर तक हंगामा चलता रहा। सचिव की सूचना पर स्वरूपनगर इंस्पेक्टर पहुंचे और ठेकेदार व उनके चालक को थाने ले आए। आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

बर्रा विश्वबैंक निवासी महेंद्र सिंह उर्फ दीपू कानपुर विकास प्राधिकरण व राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण में ठेकेदारी करता है। उसकी फर्म का नाम कोमल इंटरप्राइजेज है। केडीए में उनकी ओर से किए गए कार्यो का काफी समय से भुगतान नहीं हो रहा था। बुधवार को नशे में धुत होकर महेंद्र अपने चालक बर्रा गांव निवासी संजय कुमार सिंह के साथ केडीए पहुंचा। यहां कमरा नंबर 120 में पहुंचते ही वहां पर बैठे अवर अभियंता प्रमोद कुमार गुप्ता से भिड़ गया। गाली-गलौज के बाद कहासुनी होने लगी। इसका अवर अभियंता राकेश चंद्र गुप्ता ने विरोध किया तो महेंद्र ने कमर में लगी रिवॉल्वर निकालकर उन पर तान दी। उनका कॉलर भी पकड़ लिया। इससे कमरे में बैठे जेई व सहायक अभियंता सकते में आ गए। सभी ने ठेकेदार को पकड़ लिया और जमकर पीटा। इससे केडीए कार्यालय में लोगों की भीड़ लग गई। आक्रोशित जेई व एई नशे में धुत ठेकेदार को पकड़कर सचिव के कमरे में ले गए। यहां पर भी महेंद्र की दबंगई कम नहीं हुई और सचिव के सामने ही उसने अभद्रता शुरू कर गाली-गलौज कर दी। इस पर सचिव ने फोन करके स्वरूपनगर इंस्पेक्टर को बुलाया। कुछ ही देर में पुलिस आई और महेंद्र के साथ चालक संजय को भी पकड़कर थाने ले आई। इंस्पेक्टर राजीव द्विवेदी ने बताया कि नशे में धुत ठेकेदार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

रिवॉल्वर लगा दी ठिकाने
बवाल बढ़ता देखकर ठेकेदार ने भीड़ के बीच अपने करीबियों को रिवॉल्वर थमा दी। पुलिस जब महेंद्र को गिरफ्तार करके स्वरूपनगर थाने लाई तो उसके पास रिवॉल्वर नहीं थी। जबकि केडीए के कर्मचारी व जेई पर रिवॉल्वर तानी गई थी। ठेकेदार ने भीड़ व बवाल के बीच रिवॉल्वर किसी को थमा दी। इंस्पेक्टर ने बताया कि ठेकेदार ने रिवॉल्वर किसी करीबी को थमा दी है। उसकी तलाश की जा रही है।

केडीए के कैमरे बंद मिले
कई घोटाले और आरोप-प्रत्यारोप के बीच कानपुर विकास प्राधिकरण के अफसरों व सभी जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे। जब स्वरूपनगर इंस्पेक्टर ने केडीए अफसरों से बवाल की वीडियो फुटेज चाही तो केडीए अफसरों ने सभी कैमरे बंद होने की बात कही। इंस्पेक्टर ने बताया कि केडीए के सभी कैमरे बंद हैं। इसीलिए मौके की फुटेज नहीं मिल सके। लगे हुए कैमरे चालू होने चाहिए। इतना बड़ा विभाग होने के बावजूद कैमरे बंद होना हैरत की बात है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केडीए में ठेकेदार ने तानी जेई पर रिवॉल्वर