DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी में निवेशक क्यों नहीं आ रहे हैं: भाजपा

भारतीय जनता पार्टी ने मुख्यमंत्री से सवाल करते हुए कहा कि उच्चकोटि का निवेशपरक वातावरण उपलब्ध कराये जाने के बावजूद प्रदेश में निवेशक क्यों नहीं आ रहे हैं?


पार्टी प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा मुख्यमंत्री के प्रयास अभी भी अधूरे दिख रहे हैं और प्रदेश में सरकार का ‘राइजिंग यूपी’ का नारा खोखला साबित हो रहा है। मुख्यमंत्री अपनी घोषणाओं और नीतियों पर गंभीरता से पुनर्विचार करें और यह बताएं कि निवेशक उन पर क्यों विश्वास करें।
श्री पाठक ने कहा कि आगरा समिट पर बड़े-बड़े विज्ञापन जारी हुए थे। आयोजन पर करोड़ खर्च भी किए गये। देशी-विदेशी निवेशकों के जमावड़े भी हुए पर निवेश प्रदेश में नहीं आया। 2012-13 एवं 2013-14 के दौरान आगरा समिट में आए एक भी निवेशक से करार न हो पाना प्रकट करता है कि अखिलेश सरकार  का ‘राइजिंग यूपी’ केवल प्रचार-प्रसार में है, हकीकत में नहीं।

प्रमु़ख संवाददाता राज्य मुख्यालय। भारतीय जनता पार्टी ने मुख्यमंत्री से सवाल करते हुए कहा कि उच्चकोटि का निवेशपरक वातावरण उपलब्ध कराये जाने के बावजूद प्रदेश में निवेशक क्यों नहीं आ रहे हैं?


पार्टी प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा मुख्यमंत्री के प्रयास अभी भी अधूरे दिख रहे हैं और प्रदेश में सरकार का ‘राइजिंग यूपी’ का नारा खोखला साबित हो रहा है। मुख्यमंत्री अपनी घोषणाओं और नीतियों पर गंभीरता से पुनर्विचार करें और यह बताएं कि निवेशक उन पर क्यों विश्वास करें।
श्री पाठक ने कहा कि आगरा समिट पर बड़े-बड़े विज्ञापन जारी हुए थे। आयोजन पर करोड़ खर्च भी किए गये। देशी-विदेशी निवेशकों के जमावड़े भी हुए पर निवेश प्रदेश में नहीं आया। 2012-13 एवं 2013-14 के दौरान आगरा समिट में आए एक भी निवेशक से करार न हो पाना प्रकट करता है कि अखिलेश सरकार  का ‘राइजिंग यूपी’ केवल प्रचार-प्रसार में है, हकीकत में नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी में निवेशक क्यों नहीं आ रहे हैं: भाजपा