DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसानों की समस्या को आगे आकर धरने पर भी बैठेंगी: साध्वी निरंजन

केन्द्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति के तेवर तल्ख थे, किसानों के साथ हो रहे अन्याय को लेकर दुखी भी, उन्होंने शासन से लेकर प्रशासन तक को चेतावनी भरे लहजे में आगाह किया कि वह किसानों के दर्द को समझती हैं,अगर इनको न्याय न मिला तो वह मंत्री हैं लेकिन किसानों की समस्या को आगे आकर धरने पर भी बैठेंगी।

बुधवार को मथुरा आयीं केन्द्रीय मंत्री व फतेहपुर की सांसद साध्वी निरंजन ज्योति ने जेल में बंद किसान व युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं से मिलने के बाद गांव दामोदरपुरा जाकर ग्रामीणों के साथ दुखदर्द बांट पीडितों से मिलीं। इसदौरान उन्होने किसानों की लड़ाई को धर्मयुद्ध की संज्ञा देते हुए कहा कि प्रदेश सरकार किसान विरोधी मानसिकता रखती है, जंगलराज कायम है। साध्वी ने कहा कि उन्होंने इस मामले पर प्रदेश के मुख्य सचिव से बात की है। प्रशासन को भी आगाह कर रहीं हूं अगर किसानों को मुआवजा,जेल में बंद लोगों को तत्काल रिहा कर मुकदमे नहीं हटाये और उनका उचित उपचार नहीं कराया तो वह किसानों के आंदोलन में शामिल होऊंगी, इसका खामियाजा प्रदेश सरकार को भुगतना पड़ेगा। कहा कि मंत्री हूं तो क्या हुआ वह किसानो का दर्द समझती हैं वह किसानों के साथ खुद धरना देंगी।

उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कही कि शासन से लेकर प्रशासन के अधिकारी समझ लें कि वह जो कहती हैं वह उसे करती भी हैं,किसानो की समस्यास का निस्तारण शीघ्र न हुआ तो खुद आंदोलन की अगुआई करेंगी। इसदौरान उन्होंने एसएसपी से भी वार्ता की। उन्होने प्रशासन की हठधर्मिता वादी मंशा पर भी प्रहार करते हुए कहा कि किसान की पीर को समझों और उसका निराकरण करायें,निदरेषों को रिहा करें अन्यथा आंदोलन उग्र रूप ले सकता है। इसदौरान उनके साथ जिलाध्यक्ष डॉ.डीपी गोयल,प्रणतपाल,रामकिशन पाठक आदि साथ थे।
किसानों की समस्या को आगे आकर धरने पर भी बैठेंगी:  साध्वी निरंजन

मथुरा। निज संवाददाता
केन्द्रीय खाद्य एवं प्रसंस्करण राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति के तेवर तल्ख थे, किसानों के साथ हो रहे अन्याय को लेकर दुखी भी, उन्होंने शासन से लेकर प्रशासन तक को चेतावनी भरे लहजे में आगाह किया कि वह किसानों के दर्द को समझती हैं,अगर इनको न्याय न मिला तो वह मंत्री हैं लेकिन किसानों की समस्या को आगे आकर धरने पर भी बैठेंगी।

बुधवार को मथुरा आयीं केन्द्रीय मंत्री व फतेहपुर की सांसद साध्वी निरंजन ज्योति ने जेल में बंद किसान व युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं से मिलने के बाद गांव दामोदरपुरा जाकर ग्रामीणों के साथ दुखदर्द बांट पीडितों से मिलीं। इसदौरान उन्होने किसानों की लड़ाई को धर्मयुद्ध की संज्ञा देते हुए कहा कि प्रदेश सरकार किसान विरोधी मानसिकता रखती है, जंगलराज कायम है। साध्वी ने कहा कि उन्होंने इस मामले पर प्रदेश के मुख्य सचिव से बात की है। प्रशासन को भी आगाह कर रहीं हूं अगर किसानों को मुआवजा,जेल में बंद लोगों को तत्काल रिहा कर मुकदमे नहीं हटाये और उनका उचित उपचार नहीं कराया तो वह किसानों के आंदोलन में शामिल होऊंगी, इसका खामियाजा प्रदेश सरकार को भुगतना पड़ेगा। कहा कि मंत्री हूं तो क्या हुआ वह किसानो का दर्द समझती हैं वह किसानों के साथ खुद धरना देंगी।

उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कही कि शासन से लेकर प्रशासन के अधिकारी समझ लें कि वह जो कहती हैं वह उसे करती भी हैं,किसानो की समस्यास का निस्तारण शीघ्र न हुआ तो खुद आंदोलन की अगुआई करेंगी। इसदौरान उन्होंने एसएसपी से भी वार्ता की। उन्होने प्रशासन की हठधर्मिता वादी मंशा पर भी प्रहार करते हुए कहा कि किसान की पीर को समझों और उसका निराकरण करायें,निदरेषों को रिहा करें अन्यथा आंदोलन उग्र रूप ले सकता है। इसदौरान उनके साथ जिलाध्यक्ष डॉ.डीपी गोयल,प्रणतपाल,रामकिशन पाठक आदि साथ थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किसानों की समस्या को आगे आकर धरने पर भी बैठेंगी: साध्वी निरंजन