DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गैर जाति में विवाह पर बेटी की गला दबा कर हत्या

राजधानी के दक्षिणी पश्चिमी इलाके में माता-पिता ने गैर जाति में विवाह करने पर अपनी बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी। मामला छिपाने के लिए आरोपियों ने पड़ोसियों से कहा कि उनकी बेटी को सांप काट लिया है और वे इलाज कराने के लिए राजस्थान जा रहे हैं। मृतका के पति की शिकायत पर द्वारका नॉर्थ पुलिस ने आरोपी माता पिता एवं पड़ोसी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों की पहचान जगमोहन एवं सावित्री के रूप में हुई है। पड़ोसी का नाम मास्टर महेंद्र है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार 24 वर्षीय अभिषेक सेठ परिवार के साथ हस्तसाल गांव में रहता है। अभिषेक राष्ट्रपति भवन में असिस्टेंट प्रोग्रामर के पद पर कार्यरत है। भावना दिल्ली विश्वविद्यालय के वेंकटेश्वर कॉलेज में इतिहास से बीए की छात्र थी।
अभिषेक एवं भावना एक शादी समारोह में मिले और एक दूसरे से प्यार करने लगे। भावना के परिजन शुरू से ही इस रिश्ते के खिलाफ थे। इसी दौरान उन्होंने भावना की शादी तय कर दी। इस पर दोनों ने 12 नवंबर को हनुमान रोड स्थित आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली। इसके बाद भावना ने अपने पिता का घर छोड़ दिया।

धूमधाम से शादी कराने का वादा कर बुलाया घर
शादी की खबर मिलने पर भावना के परिजन आग बबूला हो गए। अभिषेक के परिजनों ने पुलिस को बताया कि दोनों शादी कर घर पहुंचे तो भावना के पिता जगमोहन ने उन्हें जनकपुर डिस्ट्रिक्ट सेंटर पर बुलाया।

जगमोहन एवं सावित्री ने दोनों से काफी देरतक बात की। इसके बाद उन्होंने दोनों से वादा किया कि वे उनकी शादी बेहद धूमधाम से करेंगे और 16 नवंबर को पूरे रस्मो रिवाज के साथ बेटी को विदा करेंगे। लेकिन 14 नवंबर को भावना का फोन आया कि माता पिता उसे प्रताड़ित कर रहे हैं। वह अपनी ससुराल हस्तसाल आ गई। कुछ देर बाद भावना के रिश्तेदार उसे समझा बुझाकर अपने साथ ले गए।

सूत्रों के अनुसार जगमोहन एवं सावित्री ने 15 नवंबर की रात गला दबाकर अपनी बेटी की हत्या कर दी। लेकिन मामला छिपाने के लिए परिजनों ने आसपास के लोगों से कहा कि भावना को सांप काट लिया है और वे इसका इलाज कराने के लिए लेकर जा रहे हैं। इसके बाद उन्होंने अपनी बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी और अलवर में ही उसका अंतिम संस्कार कर दिया।

16 नवंबर को उन्हें पता चला कि भावना की मौत हो गई है। अभिषेक अपने परिजनों के साथ द्वारका पुलिस के पास पहुंचा और घटना की जानकारी दी। 17 नंवबर की शाम पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की गई और मंगलवार को भावना के माता- पिता को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। उनका साथ देने के लिए पड़ोसी को भी गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी माता- पिता को द्वारका कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

 लड़की की सगाई हो गई थी

भावना के माता-पिता को उसकी अभिषेक के साथ प्रेम संबंध होने की खबर पहले ही लग गई थी। इसके बाद उन्होंने पहले उसे समझाया। जब भावना अड़ी रही तो उन्होंने जबरन उसकी सगाई एयरफोर्स में काम करने वाले लड़के से करवा दी थी। हालांकि भावना लगातार इसका विरोध कर रही थी। दोनों के बीच दो सालों से प्रेम संबंध थे।

-  शादी की पहली रात से ही परिजनों ने दिया धोखा
अभिषेक की मां आरती सिंह का कहना है कि जगमोहन और सावित्री देवी को जैसे ही दोनों की शादी की बात का पता चला उन्होंने उसी रात उसे बहलाने-फुसलाने के लिए आ गए। उन्होंने भावना से कहा कि अब तो तुमलोगों ने शादी कर ही ली है, हमलोग चाहते हैं कि धूम-धाम के साथ इसकी विदाई हो। यह कहकर ये लोग उसे भरत विहार अपने घर ले गए। बाद में इनलोगों ने लड़की के साथ मारपीट की। इसके बाद भावना घर से भागकर द्वारका मोड़ मेट्रो स्टेशन आ गई। जहां से अभिषेक उसे दोबारा अपने घर ले गया। जब इसकी सूचना जगमोहन को लगी तो फिर उन्होंने घड़ियाली आंसू बहाकर उससे मांफी मांगकर भावना को अपने साथ ले गए कि अब ऐसा नहीं होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गैर जाति में विवाह पर बेटी की गला दबा कर हत्या