DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घर से भागा छात्र पाकिस्तानी सीमा पर लगे गांव में मिला

दक्षिणी दिल्ली के पुष्पा भवन से नौवीं का एक छात्र घर से भागकर पाकिस्तान की सीमा के पास पहुंच गया। छात्र की गुमशुदगी को लेकर उसके अभिभावकों ने साकेत थाने में मामला दर्ज कराया। जिसके बाद पुलिस हरकत में आई और गुमशुदा छात्र की तलाश शुरू की गई। पुलिस ने छात्रों को उसके फेसबुक एकाउंट की मदद से पाकिस्तान सीमा के पास के एक गांव से तलाश पाई। छात्र को पुलिस ने उसके अभिभावकों के हवाले कर दिया है।


साकेत थाना पुलिस के पास दर्ज किए मामले के बाद दिल्ली पुलिस ने एसीपी निशांत गुप्ता की अगुवाई में इंस्पेक्टर रणबीर सिंह और सब इंस्पेक्टर अमित सोलंकी की विशेष टीम बनाई। जिसके बाद टीम के सदस्यों ने छात्र की तलाश के लिए उसके फेसबुक एकाउंट पर नजर रखना शुरू किया। घटना के करीब 15 दिन बाद रात छात्र के लोकेशन को लेकर पहली बार जानकारी मिली।

फेसबुक से पता किया किस गांव में है छात्र
छात्र का एकाउंट ऑनलाइन दिखने के बाद पुलिस ने उसके एकाउंट पर लगातार नजर रखना शुरू किया। इसी दौरान एक रात करीब साढ़े ग्यारह बजे छात्र ने फेसबुक पर अपनी लोकेशन साइन इन की। जिसके बाद पुलिस को पता चला कि वो पंजाब के मुकसर के आगे एक गांव में रह रहा है। जिसके बाद पुलिस ने उसकी फ्रेंड लिस्ट में  मुकसर के अन्य लोगों को तलाशना शुरू किया। छात्र की फ्रेंड लिस्ट में पुलिस को अमर बरार नाम का आदमी मिला। जो पेशे से एक ट्रक चालक था। पुलिस ने जब बरार के एकाउंट की जांच की तो उसपर उन्हें अमर बरार और उसके ट्रक की फोटो मिली। जिसके बाद पुलिस ने ट्रक के नंबर और फेसबुक से मिले लोकेशन के आधार पर छात्र को चकातरी सदारवाला गांव से बरामद किया।

कक्षा में फेल होने के डर से भागा था छात्र
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि छात्र 13 अक्तूबर को अपने स्कूल आखिरी बार देखा गया था। जिसके बाद से जब 15 अक्तूबर को उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाई गई। छात्र के बारे में जब उसके स्कूल से जानकारी जुटाई गई तो पता चला कि छात्र नौवीं के सभी विषय में फेल हो चुका था। इसी दौरान छात्र के दोस्तों ने बताया कि वो पिछले कुछ दिनों से इस बात लेकर काफी परेशान था कि वो परीक्षा में उत्तीर्ण नहीं हो पाएगा। छात्र के दोस्तों ने बताया कि इसी वजह से उसने पढ़ाई और घर छोड़ने का फैसला किया।

नौकरी की तलाश में था छात्र
पंजाब के मुकसर इलाके में पता करने के बाद पुलिस को पता चला कि वो पिछले कुछ दिनों से यहां नौकरी की तलाश कर रहा था। उसने अन्य लोगों को अपने बारे में बताया कि वो अनाथ है और अब सिर्फ नौकरी करना चाहता था। पुलिस ने इस मामले में बरार से भी बात की और फिर स्थिति साफ हो गई की छात्र फेल होने की वजह से आहत था और अब पढ़ाई नहीं करना चाहता था।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:घर से भागा छात्र पाकिस्तानी सीमा पर लगे गांव में मिला