DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय छात्रों की पहली पसंद फिर बना अमेरिका

भारतीय छात्रों की पहली पसंद फिर बना अमेरिका

अमेरिका में पढ़ने वाले भारतीय विद्यार्थियों की संख्या में छह फीसदी का इजाफा हुआ है। यह बात एक अंतर्राष्ट्रीय शैक्षिक रपट में सामने आई है। पिछले तीन सालों से अमेरिका पढ़ने जाने वाले छात्रों की संख्या में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही थी। इस शैक्षिक सत्र में यह संख्या बढ़कर 1,02,673 हो गई है।

ओपन डोर्स 2014 की सोमवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका के विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में पढ़ने वाले विदेशी छात्रों की संख्या में आठ फीसदी का इजाफा हुआ है। इस शैक्षिक सत्र में यह संख्या 8,86,053 पहुंच गई है। इस रिपोर्ट में पाया गया कि वर्ष 2000 में आयोजित पहले अंतर्राष्ट्रीय शिक्षा सप्ताह से लेकर अभी तक अमेरिका में अंतर्राष्ट्रीय छात्रों की संख्या में 72 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है।

पिछले साल के मुकाबले शैक्षिक सत्र 2013-14 में अमेरिका के उच्च शिक्षण संस्थानों में 66,408 अधिक छात्रों ने दाखिला लिया। अमेरिक के शिक्षण संस्थानों में भारतीय छात्रों की संख्या में पिछले तीन साल के मुकाबले छह फीसदी का इजाफा हुआ है, और इस साल यह संख्या 1,02,673 हो गई है। यह संख्या स्नातक स्तर पर हुए दाखिले के कारण बढ़ी है।

तीन प्रमुख स्थानों भारत, चीन और दक्षिण कोरिया के छात्र अब अमेरिका में पढ़ने वाले कुल विदेशी छात्रों की 50 फीसदी संख्या का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। चीन और भारत से आने वाले छात्रों की संख्या में इजाफा हो रहा है जबकि दक्षिण कोरिया के छात्रों की संख्या में कमी आ रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारतीय छात्रों की पहली पसंद फिर बना अमेरिका