DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व विधायक अनार सिंह के आरोपी के लिए रेड कॉर्नर नोटिस जारी

पूर्व विधायक अनार सिंह दिवाकर की मौत के जिम्मेदार लोगों के दुबई एवं सिंगापुर भाग जाने की खबर पर शासन प्रशासन ने इंटरपोल की मदद लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। ताकि पूर्व विधायक की मौत के आरोपियों की गिरफ्तारी हो सके। वहीं बाकी के आरोपी देश न छोड़ सकें इसके लिए रेड कॉर्नर नोटिस जारी किये जाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है।

सुसाइड नोट में पूर्व विधायक ने जिन पांच लोगों को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है, उनमें से दो लोगों की अहम भूमिका मानी जा रही है। यह दोनों आरोपी रेहान फारुख एवं आसार खान देश छोड़कर दुबई भाग चुके हैं। इसके अलावा एक अन्य आरोपी आदित्य रंजन के सिंगापुर भाग जाने की खबर है। इन लोगों की गिरफ्तारी के लिए शासन प्रशासन ने इंटरपोल की मदद लेने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है। डीआईजी अलीगढ़ मोहित अग्रवाल ने कहा बाकी के आरोपी देश न छोड़ पायें इसके लिए रेड कॉर्नर नोटिस जारी किये जाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। ताकि देश छोड़ने का प्रयास करने वाले आरोपियों की एयरपोर्ट पर गिरफ्तारी की जा सके। हाई प्रोफाइल इस मामले की जांच को लखनऊ के एक्सपर्ट की मदद ली जा रही है। सुसाइड नोट को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है। पूर्व विधायक अनार सिंह दिवाकर की मौत की गुत्थी सुलझाने में उनके सीए देशराज सिंह की गवाही अहम मानी जा रही है। क्योंकि वह उनके हर मामले में राजदार रहे हैं। खुद अनार सिंह दिवाकर ने सुसाइड नोट में अपने साथ हुए ठगी के मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है। वहीं उनके परिजन भी इस हाई प्रोफाइल मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को पूर्व विधायक के पुत्र मोहित से हुई वार्ता में इस मामले की जांच सीबीआई से कराने का आश्वासन दिया है। इस मामले की जांच सीबीआई से होने पर कई नामचीन की गर्दन इस मामले में फंस सकती है। एक न्यायमूर्ति का नाम भी इस प्रकरण में चर्चा का विषय बना हुआ है। डीआईजी मोहित अग्रवाल ने कहा आरोपियों की तलाश में दिल्ली समेत संभावित स्थानों पर दबिश दी जा रही है। पूर्व विधायक की मौत पर सील किया गया होटल शिखर मंगलवार को डीआईजी मोहित अग्रवाल की मौजूदगी में खोल दिया गया। अब जांच पूरी न होने तक होटल का कमरा नंबर 403 सील रहेगा। होटल के निरीक्षण में डीआईजी मोहित अग्रवाल ने सीसीटीवी कैमरा के फुटेज अपने कब्जे में कर लिए हैं। मालूम हो कि जलेसर विधानसभा सुरक्षित सीट से विधायक रहे अनार सिंह दिवाकर ने रविवार की सुबह शहर के होटल शिखर के कमरा नंबर 403 में खुद रिवाल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। वह मूलरूप से अमांपुर क्षेत्र के गांव रानामऊ के निवासी थे। जिनका दिल्ली में एक्सपोर्ट इंपोर्ट एवं रियल स्टेट का बड़ा व्यवसाय था। साथियों के 350 करोड़ रुपये की ठगी कर लिए जाने से वह टेंशन में आ गये थे। बताते हैं शनिवार को ठगी में शामिल रेहान फरुख एवं आसार खान ने उनसे करीब 20-22 ब्लैंक चेक पर हस्ताक्षर करा लिए थे। जिससे उनकी टेंशन और भी ज्यादा बढ़ गई। जिसे वह बर्दाश्त नहीं कर सके।पूर्व विधायक अनार सिंह के आरोपी के लिए रेड कॉर्नर नोटिस जारी
एटा। हिन्दुस्तान संवाद
 
पूर्व विधायक अनार सिंह दिवाकर की मौत के जिम्मेदार लोगों के दुबई एवं सिंगापुर भाग जाने की खबर पर शासन प्रशासन ने इंटरपोल की मदद लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। ताकि पूर्व विधायक की मौत के आरोपियों की गिरफ्तारी हो सके। वहीं बाकी के आरोपी देश न छोड़ सकें इसके लिए रेड कॉर्नर नोटिस जारी किये जाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है।

सुसाइड नोट में पूर्व विधायक ने जिन पांच लोगों को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है, उनमें से दो लोगों की अहम भूमिका मानी जा रही है। यह दोनों आरोपी रेहान फारुख एवं आसार खान देश छोड़कर दुबई भाग चुके हैं। इसके अलावा एक अन्य आरोपी आदित्य रंजन के सिंगापुर भाग जाने की खबर है। इन लोगों की गिरफ्तारी के लिए शासन प्रशासन ने इंटरपोल की मदद लेने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है। डीआईजी अलीगढ़ मोहित अग्रवाल ने कहा बाकी के आरोपी देश न छोड़ पायें इसके लिए रेड कॉर्नर नोटिस जारी किये जाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। ताकि देश छोड़ने का प्रयास करने वाले आरोपियों की एयरपोर्ट पर गिरफ्तारी की जा सके। हाई प्रोफाइल इस मामले की जांच को लखनऊ के एक्सपर्ट की मदद ली जा रही है। सुसाइड नोट को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है। पूर्व विधायक अनार सिंह दिवाकर की मौत की गुत्थी सुलझाने में उनके सीए देशराज सिंह की गवाही अहम मानी जा रही है। क्योंकि वह उनके हर मामले में राजदार रहे हैं। खुद अनार सिंह दिवाकर ने सुसाइड नोट में अपने साथ हुए ठगी के मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है। वहीं उनके परिजन भी इस हाई प्रोफाइल मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को पूर्व विधायक के पुत्र मोहित से हुई वार्ता में इस मामले की जांच सीबीआई से कराने का आश्वासन दिया है। इस मामले की जांच सीबीआई से होने पर कई नामचीन की गर्दन इस मामले में फंस सकती है। एक न्यायमूर्ति का नाम भी इस प्रकरण में चर्चा का विषय बना हुआ है। डीआईजी मोहित अग्रवाल ने कहा आरोपियों की तलाश में दिल्ली समेत संभावित स्थानों पर दबिश दी जा रही है। पूर्व विधायक की मौत पर सील किया गया होटल शिखर मंगलवार को डीआईजी मोहित अग्रवाल की मौजूदगी में खोल दिया गया। अब जांच पूरी न होने तक होटल का कमरा नंबर 403 सील रहेगा। होटल के निरीक्षण में डीआईजी मोहित अग्रवाल ने सीसीटीवी कैमरा के फुटेज अपने कब्जे में कर लिए हैं। मालूम हो कि जलेसर विधानसभा सुरक्षित सीट से विधायक रहे अनार सिंह दिवाकर ने रविवार की सुबह शहर के होटल शिखर के कमरा नंबर 403 में खुद रिवाल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। वह मूलरूप से अमांपुर क्षेत्र के गांव रानामऊ के निवासी थे। जिनका दिल्ली में एक्सपोर्ट इंपोर्ट एवं रियल स्टेट का बड़ा व्यवसाय था। साथियों के 350 करोड़ रुपये की ठगी कर लिए जाने से वह टेंशन में आ गये थे। बताते हैं शनिवार को ठगी में शामिल रेहान फरुख एवं आसार खान ने उनसे करीब 20-22 ब्लैंक चेक पर हस्ताक्षर करा लिए थे। जिससे उनकी टेंशन और भी ज्यादा बढ़ गई। जिसे वह बर्दाश्त नहीं कर सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पूर्व विधायक अनार सिंह के आरोपी के लिए रेड कॉर्नर नोटिस जारी