DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सोने के आयात पर लग सकता है नियंत्रण

सोने के आयात पर लग सकता है नियंत्रण

सोने के आयात में फिर तेजी को देखते हुए सरकार जल्दी ही इस पर कुछ और नियंत्रण लगाने की तैयारी में है, ताकि चालू खाते का घाटा [कैड] हाथ से बाहर न निकले।
 
एक सूत्र ने कहा, वित्त मंत्रालय कुछ चीजों पर काम कर रहा है और कुछ घोषणाएं [प्रतिबंध संबंधी] दो-एक दिन में की जा सकती हैं। सोने का अयात अक्टूबर में लगभग चार गुना होकर 4.17 अरब डॉलर तक पहुंच गया जो पिछले साल के इसी महीने 1.09 अरब डॉलर था।

मात्रा के लिहाज से सोने का आयात अक्टूबर में बढ़कर 150 टन रहा जो पिछले साल के इसी महीने में 24 टन था। निर्यात की तुलना में आयात बढ़ने से देश का व्यापार घाटा बढ़कर 13.35 अरब डॉलर हो गया, जो अक्टूबर 2013 में 10.59 अरब डॉलर था।

पिछले सप्ताह सरकार ने सोने के बढ़ते आयात पर नियंत्रण बढ़ाने के तरीके पर चर्चा के लिए बैठक की थी। भारतीय रिजर्व बैंक ने पिछले साल अगस्त में सोने के आयात पर कुछ अंकुश लगाए थे, जिनके तहत इस पर आयात शुल्क बढ़ाकर 10 प्रतिशत कर दिया था। ताकि चालू खाते के घाटे में बढ़ोतरी पर नियंत्रण किया जा सके और रुपए को संभाला जा सके।
   
इन उपायों से सोने के आयात में उल्लेखनीय कमी में मदद मिली। लेकिन इससे तस्करी की घटनाएं भी बढ़ीं। मई में पिछली संप्रग सरकार ने कुछ नियमों में ढील दे दी थी और निजी एजेंसियों को 80:20 योजना के तहत सोने के आयात की मंजूरी दी जिसमें आयात के 20 प्रतिशत के बराबर सोने का उपयोग निर्यात के उद्येश्य में इस्तेमाल करने की शर्त थी।
   
वित्त वर्ष 2012-13 में चालू खाते का घाटा 88.2 अरब डॉलर या सकल घरेलू उत्पाद के 4.8 प्रतिशत के रिकार्ड स्तर पर पहुंच गया था जो 2013-14 में घटकर 32.4 अरब डॉलर या सकल घरेलू उत्पाद के 1.7 प्रतिशत के स्तर पर आ गया।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सोने के आयात पर लग सकता है नियंत्रण