DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऑस्ट्रेलिया में एजुकेशन के फायदे

ऑस्ट्रेलिया में एजुकेशन के फायदे

अमेरिका और ब्रिटेन के बाद इंटरनेशनल एजुकेशन के क्षेत्र में ऑस्ट्रेलिया हाल के वर्षो में काफी तेजी से उभर कर सामने आया है। 1200 से ज्यादा एजुकेशनल इंस्टीटय़ूट और विविध विषयों पर आधारित 22,000 से भी अधिक कोर्सेज के कारण ऑस्ट्रेलिया अनेक देशों के स्टूडेंट्स का फेवरेट डेस्टिनेशन बन गया है। इनमें एकेडेमिक, प्रोफेशनल और वोकेशनल हर तरह के कोर्सेज शामिल हैं। आज दुनिया भर में विभिन्न कार्यक्षेत्रों में विश्व के तमाम देशों के 25 लाख से अधिक ऑस्ट्रेलियाई डिग्रीधारक युवा कार्यरत हैं। इसी तथ्य से यहां के एजुकेशन सिस्टम के महत्व का अंदाजा बखूबी लगाया जा सकता है।

ऑस्ट्रेलिया ही क्यों?
अमेरिका और ब्रिटेन में सीमित सीटों पर एडमिशन की मारामारी को देखते हुए निस्संदेह ऑस्ट्रेलिया में एडमिशन पाना अपेक्षाकृत आसान कहा जा सकता है। नेचुरल साइंस, मैथ्स, लाइफ साइंसेज, एग्रीकल्चर, मेडिसिन, फिजिक्स इत्यादि के क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की 50 से अधिक यूनिवर्सिटीज के ऑस्ट्रेलिया में होने के कारण युवाओं का इस ओर सहज ही आकर्षित होना कोई अचरज की बात नहीं कही जा सकती। इतना ही नहीं, ऑस्ट्रेलियाई सरकार की ओर से यह भी दावा किया जाता है कि दुनिया की शीर्ष 100 यूनिवर्सिटीज में से 7 ऑस्ट्रेलिया की हैं और 15 नोबेल पुरस्कार विजेता भी ऑस्ट्रेलिया के एजुकेशन सिस्टम की ही देन हैं। सबसे बड़ी बात यह कि ऑस्ट्रेलिया सरकार द्वारा प्रति वर्ष इंटरनेशनल स्टूडेंट्स की शिक्षा के लिए 200 मिलियन ऑस्ट्रेलियाई डॉलर खर्च किये जाते हैं।

संपर्क
ऑस्ट्रेलिया में पढ़ाई के इच्छुक भारतीय युवा इस बारे में अधिकृत और प्रामाणिक जानकारियों के लिए वेबसाइट www.studyinaustralia.gov.au देख सकते हैं। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया सरकार द्वारा उपलब्ध इंटरनेशनल स्कॉलरशिप की विस्तृत जानकारी के लिए वेबसाइट www.australiaawards.gov.au  और http://www. studyinaustralia.gov.au/Scholarships उपयोगी सिद्ध हो सकती है। ऑस्ट्रेलिया में स्टूडेंट वीजा सहित अन्य वीजा की आवेदन प्रक्रिया के बारे में सूचना के लिए वेबसाइट www.immi. gov.au/students/students/chooser/ महत्वपूर्ण है। इसके  अतिरिक्त दिल्ली स्थित ऑस्ट्रेलियाई हाई कमीशन, शांतिपथ,चाणक्यपुरी ,नई दिल्ली से भी संपर्क किया जा सकता है।

आवेदन
अन्य देशों की भांति यहां भी आवेदन की प्रक्रिया कम से कम डेढ़ साल पहले शुरू कर देनी चाहिए। इसके प्रथम चरण में स्वयं यह निर्णय करें कि किस तरह के कोर्स के लिए आप आवेदन करना चाहते हैं। इस क्रम में ऑस्ट्रेलिया की सम्बंधित यूनिवर्सिटीज की वेबसाइट देख कर अधिक सूचनाएं और उनकी शर्तो के बारे में जानकारियां जुटाई जा सकती हैं। समस्त सर्टिफिकेट्स की प्रतियां, फोटोग्राफ, रेकमंडेशन लेटर्स, आई ई एल टी एस स्कोर कार्ड (अंग्रेजी का टेस्ट) और अन्य आवश्यक डॉक्युमेन्ट्स की प्रतियां आपके पास तैयार रहनी चाहिए। हां सबसे महत्वपूर्ण है  कि समय रहते पासपोर्ट अवश्य बनवा लें।

रहन-सहन की लागत
मोटे तौर पर हॉस्टल या गेस्ट हाउस का प्रति सप्ताह खर्च 80 से 130 ऑस्ट्रेलियाई डॉलर, खाने-पीने पर लगभग  80 से 200 आस्ट्रेलियाई डॉलर प्रति सप्ताह, गैस और इलेक्ट्रिसिटी पर 60 से 100 ऑस्ट्रलियाई डॉलर, पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर 10 से 50 ऑस्ट्रेलियाई डॉलर तक खर्च करना पड़ता है। इसके अलावा पॉकेट खर्च, यूनिवर्सिटी टय़ूशन फीस, कपडे़ और सालाना के एयर फेयर आदि खर्चों को भी नहीं भूलना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऑस्ट्रेलिया में एजुकेशन के फायदे