DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसओएल के छात्र नए सत्र से प्रश्न बैंक बनाएंगे

दिल्ली विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग के छात्र प्रश्न बैंक बनाएंगे। इसमें हर कोर्स के पेपर के लिए 200 सवाल तैयार करने होंगे। शिक्षक भी सहयोग करेंगे। परीक्षा में बेहतर करने वाले छात्रों को ही मौका मिलेगा।

विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी व कार्यकारी परिषद के सूत्रों ने बताया कि नए सत्र से लागू किया जाएगा। इसके लिए एसओएल में यूनिट बनाई जाएगी। इसमें दस शिक्षकों की टीम होगी। ये विभिन्न कोर्स से संबंधित होंगे। वहीं हर कोर्स से वार्षिक परीक्षा में बेहतर करने वाले छात्रों को चुना जाएगा।

प्रश्न बैंक तैयार करने की इस योजना में सिर्फ दूसरे और तीसरे वर्ष के छात्रों को शामिल किया जाएगा। जो छात्र प्रथम वर्ष उत्तीर्ण करने के बाद दूसरे वर्ष में आएंगे वे प्रथम वर्ष के लिए सवाल तैयार करेंगे। इसी तरह दूसरे वर्ष की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद तीसरे वर्ष में आने वाले छात्र दूसरे वर्ष के लिए सवाल तैयार करेंगे। इसके अलावा तीसरा वर्ष पूरा कर डिग्री पाने वाले छात्र बतौर सहयोगी जुड़कर तीसरे वर्ष के छात्रों के लिए सवाल तैयार कर सकेंगे। बहरहाल, परीक्षा में कितने अंक पाने वाले को चुना जाएगा इस बारे में फैसला जल्द लिया जाएगा।

प्रतियोगी परीक्षाओं में मिलेगी मदद
छात्रों को सवाल विषय के सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर बनाना होगा। मान लीजिए इंग्लिश ऑनर्स में किसी उपन्यास पर पांच सवाल तैयार करने हैं तो छात्रों को न सिर्फ उसकी कहानी व किरदार से संबंधित बल्कि लेखक, उसके जीवन और अन्य रचनाओं के बारे में भी सवाल तैयार करने होंगे। विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी कहते हैं कि अमूमन ऐसे सवाल प्रतियोगी परीक्षाओं में देखने को मिलते हैं। वहां सीधे सपाट सवाल न होकर घुमा-फिराकर जवाब मांगा जाता है। इसी फॉर्मूले को लागू किया जाएगा। इससे छात्रों को न सिर्फ विषय की गहनता से जानकारी हासिल होगी बल्कि वे प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार होंगे।

यह प्रश्न बैंक कई मायनों में खास होगा। इन्हें ऑनलाइन भी पढ़ा जा सकेगा। हर साल नए सवाल तैयार होने से पुराने सवालों को हटाया नहीं जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एसओएल के छात्र नए सत्र से प्रश्न बैंक बनाएंगे