DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रामपाल पेश न हुए तो सीएम हाजिर हों: कोर्ट

पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने तथाकथित संत रामपाल को पेश न करने पर सोमवार को हरियाणा सरकार को फिर फटकारा। साथ ही रामपाल के खिलाफ ताजा गैर जमानती वारंट जारी करते हुए कहा कि तीन दिन में यदि उन्हें पेश नहीं किया गया तो मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को पेश होना होगा।
 
21 नवंबर को अगली सुनवाई : कोर्ट ने पेशी से इनकार करने पर रामपाल को ड्रामेबाज कहा। मामले की अगली सुनवाई 21 नवंबर को होगी। रामपाल को सोमवार को हाईकोर्ट में पेश होना था, पर बीमारी का बहाना बनाते हुए उन्होंने कहा कि वह कोर्ट आने की स्थिति में नहीं हैं। उनके वकील ने कहा कि वह एक निजी अस्पताल में भर्ती हैं। इस पर हाईकोर्ट ने कहा कि रामपाल बच्चों और महिलाओं को ढाल बनाकर ड्रामा कर रहे हैं।

डीजीपी और गृह सचिव भी पेश हों: हाईकोर्ट ने रामपाल के साथ डीजीपी, गृह सचिव को भी पेश होने के आदेश दिए। कोर्ट ने फटकारते हुए ने कहा कि हरियाणा सरकार तीन दिन में रामपाल को पेश करे, नहीं तो अवमानना का अगला नोटिस मुख्यमंत्री को जाएगा और उन्हें कोर्ट में पेश होना होगा। हाईकोर्ट ने तीसरी बार रामपाल के खिलाफ वारंट जारी किया। इससे पहले भी रामपाल ने मेडिकल रिपोर्ट पेश की थी जिसमें कहा गया था कि उन्हें 19 नवंबर तक आराम की जरूरत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रामपाल पेश न हुए तो सीएम हाजिर हों: कोर्ट