DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीनिवासन पर आंच, कुंद्रा-मयप्पन फंसे

आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में बीसीसीआई के पूर्व चेयरमैन श्रीनिवासन पर मैच फिक्सिंग व जांच प्रभावित करने के आरोप का कोई सबूत नहीं मिला। मगर श्रीनिवासन पर सट्टेबाजी की जानकारी होने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं करने का आरोप है। वहीं श्रीनिवासन के दामाद मयप्पन, राजस्थान रॉयल्स के सहमालिक राज कुंद्रा और आईपीएल के पूर्व सीईओ सुंदर रमन को सट्टेबाजी में शामिल पाया गया है। मुदगल जांच समिति ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में यह जानकारी दी।

श्रीनिवासन पर कार्रवाई न करने का आरोप : मुदगल समिति ने 35 पेज की रिपोर्ट में कहा, श्रीनिवासन व सुंदर रमन समेत चार बीसीसीआई अधिकारियों को खिलाड़ी नंबर-3 द्वारा आचार संहिता के उल्लंघन की जानकारी थी। मगर उन्होंने इस खिलाडम्ी पर कोई कार्रवाई नहीं की।

सट्टेबाजी में शामिल था मयप्पन: श्रीनिवासन के दामाद मयप्पन के खिलाफ मैच फिक्सिंग में संलिप्पता का कोई सबूत नहीं मिला। मगर यह पता चला है कि वह खिलाड़ी नंबर-दो से मुंबई होटल में उसके कमरे में प्राय: मिलता था। मयप्पन का इस खिलाड़ी से निकट का संपर्क था।

कमेटी ने कहा, मयप्पन की आवाज के नमूनों से साफ है कि वह सट्टेबाजी में पूरी तरह से शामिल था। मयप्पन चेन्नई सुपरकिंग्स टीम फ्रेंचाइजी का अधिकारी था, महज क्रिकेटप्रेमी नहीं।

कुंद्रा ने की थी सट्टेबाजी : कमेटी ने बताया, कुंद्रा का एक दोस्त सटोरिया था। वह कुंद्रा की ओर से सट्टा लगाता था और कुंद्रा ने ही उसे बड़े सटोरिये से मिलाया। इस बात के सबूत हैं कि कुंद्रा सट्टा लगाता था। एक खिलाड़ी ने भी बताया कि कुंद्रा ने उसे सटोरिये से मिलवाया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:श्रीनिवासन पर आंच, कुंद्रा-मयप्पन फंसे