DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब रामपाल पेश नहीं हुए तो सीएम होंगे तलब

अब रामपाल पेश नहीं हुए तो सीएम होंगे तलब

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने रामपाल को पेश नहीं करने पर सोमवार को हरियाणा सरकार को फिर फटकारा। साथ ही रामपाल के खिलाफ ताजा वारंट जारी करते हुए कहा कि तीन दिन में यदि उन्हें पेश नहीं किया गया तो मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को पेश होना होगा। हाईकोर्ट ने पेशी से इनकार करने पर रामपाल को ड्रामेबाज करार दिया। मामले की अगली सुनवाई 21 नवंबर को होगी।

रामपाल को सोमवार को हाईकोर्ट में पेश होना था, लेकिन बीमारी का बहाना बनाते हुए उन्होंने कहा कि वह कोर्ट आने की स्थिति में नहीं हैं। उनके वकील ने कहा कि वह एक निजी अस्पताल में भर्ती हैं। इस पर हाईकोर्ट ने कहा कि रामपाल बच्चों और महिलाओं को ढाल बनाकर ड्रामा कर रहे हैं। हाईकोर्ट ने रामपाल के साथ डीजीपी, गृह सचिव को भी पेश होने के आदेश दिए। सरकार को फटकार लगाते हुए एमिकस क्यूरी ने कहा है कि हरियाणा सरकार तीन दिन में रामपाल को पेश करे नहीं तो अवमानना का अगला नोटिस मुख्यमंत्री को जाएगा और उन्हें कोर्ट में पेश होना होगा। इसी के साथ हाईकोर्ट ने तीसरी बार रामपाल के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया। इससे पहले भी रामपाल की ओर से मेडिकल रिपोर्ट पेश की गई थी जिसमें कहा गया था कि उन्हें 19 नवंबर तक आराम की जरूरत है।

हरियाणा सरकार का जवाब
हरियाणा सरकार की ओर से गृह सचिव तथा डीजीपी अदालत में पेश हुए। महाधिवक्ता बलदेव राज महाजन ने अदालत को बताया कि सरकार अदालत के आदेश की तामील के लिए कदम उठा रही है। सतलोक आश्रम में काफी महिलाएं और बच्चे मौजूद हैं। ऐसे में प्रशासन को हर कदम सावधानी से उठाना पडम्ेगा।

कायम रहा तनाव 
पेशी के मद्देनजर चंडीगढ़ में पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट के इर्दगिर्द कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। वहीं बरवाला में रामपाल के आश्रम के आसपास दिनभर पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच गतिरोध बरकरार रहा। आश्रम के बाहर पुलिस एवं त्वरित कार्य बल की भारी संख्या में तैनाती की गई है। साथ ही दंगा नियंत्रण वाहन व एम्बुलेंस तैनात तैनात किए गए हैं। 

अनुयायियों से अपील
जिला प्रशासन ने आश्रम के भीतर और बाहर बैठे रामपाल के अनुयायियों से इलाके से चले जाने को कहा। हिसार के जिला मजिस्ट्रेट एम एल कौशिक ने महिलाओं और बच्चों समेत सभी अनुयायियों से तुरंत वहां से चले जाने को कहा है। प्रशासन अनुयायियों को बस स्टैंड तथा रेलवे स्टेशन तक ले जाने के लिए बसों का इंतजाम करेगा जहां से वे आगे अपनी अपनी यात्रा पर जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब रामपाल पेश नहीं हुए तो सीएम होंगे तलब