DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीएम जमा कराएँ बीएसए से जुर्माना

पहले तो सूचना न देना उसके बाद जुर्माना न भरना देवरिया के बेसिक शिक्षा अधिकारी को भारी पड़ा। देवरिया के जयप्रकाश सिंह, संस्थापक सदस्य, लघु माध्यमिक विद्याालय बहौर, धनौती ने बीएसए से संबंधित विद्यालय के मामले में दो बिन्दुओं पर जानकारी माँगी थी। पहली, बजरंग बली लघु माध्यमिक विद्यालय को संचालित करने वाली किसी प्रबन्ध तंत्र को आपने मान्यता दी है कि नहीं, यदि हाँ तो कब? दूसरी, यदि कोई प्रबन्ध तंत्र मान्य है तो उस प्रबंध तंत्र के प्रबंधक, अध्यक्ष व विद्यालय के प्रधानाचार्य के नाम, देने का कष्ट करं। बीएसए सूचना आयोग में उपस्थिति नहीं हुए। इस पर आयोग ने कड़ा रुख अख्तियार करते हुए 1नवम्बर 2007 को 250 रुपए प्रतिदिन का अर्थिक दण्ड लगाया। आयोग ने दण्ड की राशि पूरी होने पर सात जनवरी 2008 को 25000 रुपए जमा करने का आदेश दिए। इस पर भी बीएसए को कोई असर नहीं हुआ। मंगलवार को राज्य सूचना आयुक्त सुभाष चन्द्र पाण्डेय ने डीएम एवं निदेशक बेसिक शिक्षा को एक महीने के अन्दर सूचना उपलब्ध कराने तथा आíथक दण्ड जमा कराने का आदेश दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डीएम जमा कराएँ बीएसए से जुर्माना