DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीनिवासन को मिली क्लीन चिट, मुसीबत में मयप्पन

श्रीनिवासन को मिली क्लीन चिट, मुसीबत में मयप्पन

क्रिकेट के सुप्रीम बॉस एन. श्रीनिवासन को मुद्गल समिति की रिपोर्ट से थोड़ी राहत जरूर मिली है। लेकिन सोमवार को उच्चतम न्यायालय की ओर से सार्वजनिक की गई रिपोर्ट के कुछ अंश से साफ है कि इंडियन प्रीमियर लीग में फिक्सिंग का हाई प्रोफाइल खेल हुआ। नजर डालते हैं 35 पन्नों की रिपोर्ट के रिपोर्ट कार्ड पर-

एन. श्रीनिवासन, आईसीसी चेयरमैन
रिपोर्ट- मुद्गल समिति द्वारा उच्चतम न्यायालय को दी गई रिपोर्ट से साफ है कि श्रीनिवासन आईपीएल मैच फिक्सिंग और सट्टेबाजी में शामिल नहीं थे। रिपोर्ट के मुताबित श्रीनि ने आईपीएल में फैले भ्रष्टाचार की जांच को भी बाधित नहीं किया।
आरोप- रिपोर्ट में श्रीनिवासन को फिक्सिंग और सट्टेबाजी से जरूर बरी कर दिया गया। लेकिन उनकी भूमिका को लेकर जरूर सवाल उठाया है। रिपोर्ट के मुताबिक श्रीनि ये जानते थे कि आईपीएल में सट्टेबाजी का खेल चल रहा है। बावजूद इसके उन्होंने खिलाड़ियों को कोड ऑफ कंडक्ट तोड़ने दिया और कोई कार्रवाई नहीं की।

गुरुनाथ मयप्पन, श्रीनिवासन के दामाद
रिपोर्ट- रिपोर्ट में आईसीसी चीफ एन. श्रीनिवासन के दामाद और चेन्नई सुपरकिंग्स टीम के ऑफिशियल गुरुनाथ मयप्पन के सट्टेबाजी में शामिल होने की बात कही गई है। मयप्पन जिन्हें श्रीनिवासन एक क्रिकेट प्रशंसक बता रहे थे, रिपोर्ट में कहा गया है कि वो चेन्नई फ्रेंचाइजी के अधिकारी हैं।

आरोप- हालांकि मुद्गल जांच समिति की रिपोर्ट में मयप्पन को सट्टेबाजी का दोषी पाया गया है, लेकिन रिपोर्ट के अनुसार मयप्पन के खिलाफ मैच फिक्सिंग को लेकर कोई ठोस सबूत नहीं मिला है।

सुंदर रमन, आईपीएल सीओओ
रिपोर्ट- मुद्गल जांच रिपोर्ट के अनुसार इंडियन प्रीमियर लीग के सीओओ सुंदर रमन भी आईपीएल फिक्सिंग और सट्टेबाजी के इस खेल में शामिल रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक रमन ने माना है कि उन्हें पता था कि गुरुनाथ मयप्पन और राज कुंद्रा सट्टेबाजी में शामिल थे। रमन ने कहा कि उन्हें आईसीसी-एसीएसयू प्रमुख ने इन दोनों के बारे में जानकारी दी थी।

आरोप- संदुर रमन पर आरोप है कि उन्हें एक  सटोरिए के बारे में जानकारी थी। जिनसे उन्होंने आईपीएल के एक सीजन में ही आठ बार संपर्क किया था। जब रमन से इस बारे में जांच समिति ने पूछा तो उन्होंने स्वीकार किया कि उन्हें सटोरिए का कॉन्टैक्ट जानते हैं। हालांकि उन्होंने सट्टेबाजी में शामिल होने की बात से मना किया।

राज कुंद्रा, सह-मालिक राजस्थान रॉयल्स
रिपोर्ट- रिपोर्ट का कहना है कि आईपीएल फ्रेंचाइजी टीम राजस्थान रॉयल्स के सह-मालिक राज कुंद्रा सट्टेबाजी को लेकर कुछ सटोरियों के संपर्क में थे। बुकी से संपर्क के बारे में जानकारी नहीं देने के कारण कुंद्रा ने बीसीसीआई/आईपीएल एंट करप्शन कोड का उल्लंघन किया।

आरोप- रिपोर्ट में राज कुंद्रा पर आरोप लगाया गया है कि वो न सिर्फ सटोरियों के संपर्क में थे बल्की सट्टेबाजी किया भी करते थे। जांच समिति ने सवाल उठाया है कि कि राजस्थान पुलिस ने दिल्ली पुलिस को मामला स्थानांतरित किए जाने के बाद कुंद्रा की सट्टेबाजी की गतिविधियों के बारे में अचानक ही जांच रोक क्यों दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:श्रीनिवासन को मिली क्लीन चिट, मुसीबत में मयप्पन