DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'भारत की खुशी सचिन तेंदुलकर ही हैं'

'भारत की खुशी सचिन तेंदुलकर ही हैं'

ऐतिहासिक मेलबर्न क्रिकेट मैदान के अपने दौरे से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज क्रिकेट के रंग में रंग गए। क्वीसलैंड के प्रधानमंत्री कैंपबेल न्यूमैन ने मोदी के लिए आज नाश्ते की बैठक आयोजित की थी, जहां ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज माइकल कैस्प्रोविच भी मौजूद थे।

कैस्प्रोविच ने वहां मौजूद लोगों को तब हंसने पर मजबूर कर दिया जब उन्होंने कहा कि सचिन तेंदुलकर उनकी गेंदों पर चौके-छक्के जड़ते थे, तब भारतीय कैसे खुश होते थे और लगता था कि भारत की सकल राष्ट्रीय खुशी (ग्रोस नेशनल हैप्पीनेस) सचिन तेंदुलकर ही हैं।

क्वींसलैंड के रहने वाले पूर्व क्रिकेटर ने मोदी से हाथ मिलाया और बातीचत की। कैनबरा में कल अपने ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष टोनी एबट के साथ शिखर वार्ता में शामिल होने और ऑस्ट्रेलियाई संसद को संबोधित करने के बाद मोदी कल शाम को ही मेलबर्न जाएंगे जहां वह प्रतिष्ठित मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) का दौरा करेंगे। एमसीजी की दर्शक क्षमता एक लाख से अधिक है।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने इस दौरे से पहले ट्विटर पर लिखा कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और भारत का एक साझा जुनून है। मैं प्रतिष्ठित मेलबर्न क्रिकेट मैदान में अपनी मेजबानी के लिए प्रधानमंत्री टोनी एबट का आभार जताता हूं। ऐसा बहुत कम होता है जब विदेशी नेताओं की इस स्टेडियम में मेजबानी की जाए, जहां पूर्व में माइकल जैक्सन, रोलिंग स्टोन्स और मैडोना जैसे कलाकार और बैंड अपना कार्यक्रम प्रस्तुत कर चुके हैं और जहां पोप जॉन पॉल तृतीय ने 1986 में एक प्रार्थना सभा की थी।

42 वर्षीय कैस्प्रोविच को उनकी स्विंग गेंदबाजी, निर्मम प्रदर्शन और कड़ी मेहनत के लिए जाना जाता है। उन्हें विशेषकर 2004 में ऑस्ट्रेलिया के भारतीय उपमहाद्वीप के सफल दौरे में उनके योगदान के लिए याद किया जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'भारत की खुशी सचिन तेंदुलकर ही हैं'