DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसएससी: रैकेट के सरगना, कर्मचारी और प्रिंटर में होती है सांठगांठ

एसएससी समेत देश भर में होने वाली परीक्षाओं में नकल के तार दिल्ली और अहमदाबाद से जुड़े हैं। दरअसल, वहीं परीक्षा के पेपर प्रिंट कराए जाते हैं। रैकेट चलाने वाले चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी के साथ मिलकर पेपर लीक कराते हैं। फिर एक्सपर्ट से पेपर हल करने के बाद परिक्षार्थियों तक पहुंचाए जाते हैं।

 एसटीएफ ने पुलिस के साथ मिलकर रविवार को दिल्ली रेलवे रिक्रूटमेंट, कोलकाता रेलवे रिक्रूटमेंट और एसएससी की परीक्षा में होने वाली नकल का पर्दाफाश किया है। नकलचियों के पास से मिले आंसरशीट में सौ में से 92 सवालों के उत्तर सही पाए गए हैं। एसटीएफ के एक अधिकारी के मुताबिक नकल चलाने वाले रैकेट के सरगना ने परीक्षा विभाग के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों से सांठगांठ की है। इसके बाद उन्होंने दिल्ली और अहमदाबाद में पेपर छापने वाले प्रिंटरों का पता किया। प्रिंटरों के छापेखाने से पेपर लीक कराए गए। पेपर कोड के हिसाब से सवाल हल कर उनके एसएमएस बनाए गए। जिन शहरों में परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। एक दिन पहले ही रैकेट से जुड़े लोगों ने होटलों में डेरा डाल दिया। व्हाट्सअप के जरिए सवालों के जवाब भेजे गए। इसके बाद परीक्षार्थियों को एसएमएस की पर्चियां दी गईं। नकल का सबसे बड़ा रैकेट दिल्ली और हरियाणा में है। एसटीएफ उनके पीछे लगी हुई है।

रविवार को बरेली में धरे गए नकलची
1-पवन कुमार, बराना ओपिडिंगल झज्जर हरियाणा
2-प्रवीण कुमार, बराना ओपिडिंगल झज्जर हरियाणा
3-प्रवीण कुमार शेरपुर छपरोली बागपत
4-ज्योति, नालोन, महेन्द्रगढ़ हरियाणा
5-विकास, सांगी रोहतक हरियाणा
6-इंद्रजीत, बख्तारपुर नरेला दिल्ली

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एसएससी: रैकेट के सरगना, कर्मचारी और प्रिंटर में होती है सांठगांठ