DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो करोड़ की खातिर पूर्व विधायक की बेटी की हत्या

हकीकतनगर में रविवार सुबह सेल्स टैक्स के असिस्टेंट कमिश्नर अश्वनी सिंह की पत्नी की लाश उन्हीं की कोठी के बाहर सड़क पर पड़ी मिली। मॉर्निग वॉक पर निकले लोगों ने देखा तो सनसनी फैल गई। नवविवाहिता बरेली के पूर्व विधायक की इकलौती बेटी थी। असिस्टेंट कमिश्नर के पिता मेरठ की स्थायी लोक अदालत के चेयरमैन हैं। पूर्व विधायक ने कोठी खरीदने के लिए दो करोड़ की डिमांड की खातिर हत्या करने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज करा दी है। दामाद, समधी, समधन तथा एक अन्य को नामजद किया है। पुलिस ने महिला के पति को हिरासत में ले लिया है।

   जनपद इटावा से बतौर जिला जज रिटायर हुए पीतांबर सिंह, वर्तमान में मेरठ की स्थायी लोक अदालत के चेयरमैन हैं। उनके छोटे बेटे अश्वनी सिंह की शादी पिछले साल छह मई को बरेली के फरीदपुर से पूर्व विधायक विजयपाल सिंह की इकलौती बेटी गीतू सिंह (28 वर्षीय) के साथ हुई थी। अश्विनी भी सेल्स टैक्स विभाग में सहारनपुर में असिस्टेंट कमिश्नर हैं और  फिलहाल सेक्टर तीन के इंचार्ज हैं।

शादी के बाद से ही अश्वनी अपनी पत्नी गीतू के साथ हकीकत नगर स्थित एक न्यायाधीश की कोठी में किराये पर रह रहे थे। इसी साल 12 फरवरी को गीतू ने एक बेटे को जन्म दिया था।

पूर्व विधायक विजयपाल सिंह ने बताया कि अश्वनी पिछले कुछ महीनों से मेरठ में कोठी खरीदने के लिए दो करोड़ रुपये की मांग कर रहा था। उन्होंने देने का वायदा भी किया था, लेकिन वो जल्दी के लिए दबाव बना रहा था। सुबह साढ़े छह बजे फोन पर गीतू की मौत की खबर मिली तो वे हतप्रभ रह गए। अपनी पत्नी सुनीता सिंह तथा इकलौते बेटे डॉ.अजयपाल सिंह व रिश्तेदारों के साथ यहां पहुंचे। कोतवाली सदर बाजार में पुलिस हिरासत में मौजूद अश्विनी को जमकर खरी-खोटी सुनाई और फिर मोर्चरी पहुंच गए, जहां अपनी बेटी की लाश से लिपट कर रोने लगे।

एसओ बिजेंद्र सिंह यादव ने बताया कि विजयपाल सिंह की तहरीर पर अश्वनी सिंह, उनके पिता पीतांबर सिंह, मां मुनेश सिंह तथा इलाहाबाद हाईकोर्ट में प्रैक्टिस कर रहे बड़े भाई आशीष सिंह के खिलाफ दो करोड़ की मांग पूरी न होने पर हत्या करने की रिपोर्ट दर्ज करा दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो करोड़ की खातिर पूर्व विधायक की बेटी की हत्या