DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पत्थर के मासूम सनम

आप जब मॉरिशस की राजधानी पोर्ट लुइस से निकलकर दक्षिण की ओर जाते हैं,  तो आपको पर्वतमाला के किनारे एक पहाड़ की ऊंची चोटी पर अद्भुत नजारा देखने को मिलता है। दरअसल, यह एक विशाल चट्टान है, जो मानव-आकृति के रूप में आसमान के कैनवस पर चस्पां है। यह एक युवक के चेहरे की तरह है, जो अपनी गर्दन से पहाड़ से जुड़ा है। हैरत होती है कि इतनी ऊंचाई पर पतली-सी गर्दन ने स्वस्थ-बलिष्ठ चेहरे को कैसे साध रखा है? इस पत्थर-बुत युवक से आपके दिल के तार और भी मुलायमियत से जुड़ जाते हैं, जब आप इस नजारे के नेपथ्य से इसकी कहानी सुनते हैं। कहते हैं कि किसी समय इस पहाड़ पर सफेद लिबास में परियां घूमा करती थीं। ये हुस्न-बालाएं एकांत रहिवास का लुत्फ उठाने की गरज से गुमनाम पत्थरों के गांव में बसर करती थीं। लेकिन कहीं सौंदर्य का मेला लगे और युवा आंखें न उठें, यह तो मुमकिन नहीं।

पहाड़ों पर मवेशी चराते एक किशोर ने भौंचक-नैन इस रूप के झरने को निहार लिया। परियों ने लड़के को घेर लिया। गुनाह पहला था, और गुनहगार चढ़ती उम्र का, इसलिए उसे यह चेतावनी देकर छोड़ दिया गया कि वह इन हसीनाओं के बारे में किसी से जिक्र न करे। लेकिन कोई दुनिया की बेजोड़ खूबसूरती देख ले, और किसी से न कहे? लानत है ऐसी जवानी पर! लड़के ने अपने देखे दृश्य का जिक्र हमनवाओं के बीच कर डाला। वादा तोड़ा। उसे सजा हुई कि हमेशा के लिए ‘पत्थर के हो जाओ।’ पत्थर का वह मासूम सनम आज भी वहां खड़ा है।
कहना पड़ता है में प्रबोध कुमार गोविल

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पत्थर के मासूम सनम